Exclusive Interview: CM योगी आदित्यनाथ बोले- ढाई साल में हमने चुनौतियों को अवसर में बदला

सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के सामने जो पहचान का संकट खड़ा हो गया था, ढाई साल के इस कार्यकाल ने उत्तर प्रदेश की पहचान को बनाए रखते हुए नए मुकाम हासिल करने का काम किया है.
सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के सामने जो पहचान का संकट खड़ा हो गया था, ढाई साल के इस कार्यकाल ने उत्तर प्रदेश की पहचान को बनाए रखते हुए नए मुकाम हासिल करने का काम किया है.

सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने News 18 Network Group के Editor-in Chief राहुल जोशी के साथ Exclusive Interview में कहा है कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सामने जो पहचान का संकट खड़ा हो गया था, ढाई साल के इस कार्यकाल ने उत्तर प्रदेश की पहचान को बनाए रखते हुए नए मुकाम हासिल करने का काम किया है.

  • Share this:
लखनऊ. बीजेपी सरकार (BJP Government) के ढाई साल पूरे होने के मौके पर बुधवार को अपनी सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा कि 14 साल के वनवास के बाद उनकी सरकार उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में बनी थी. उस वक्त सरकार के सामने कई चुनौतियां थीं, लेकिन उन सभी चुनौतियों को हमने अपने प्रयासों से अवसर में बदल दिया.

मुख्यमंत्री ने कहा उत्तर प्रदेश के सामने जो पहचान का संकट खड़ा हो गया था, ढाई साल के इस कार्यकाल ने उत्तर प्रदेश की पहचान को बनाए रखते हुए नए मुकाम हासिल करने का काम किया है. सीएम योगी ने News 18 Network Group के Editor-in Chief राहुल जोशी के साथ Exclusive Interview में कहा है कि हम जब सत्ता में आए थे तो उस वक़्त प्रदेश का किसान बहुत दबा और डरा हुआ था. उसके बाद हम किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए योजना लेकर आए और अपने सकारात्मक प्रयासों के चलते फसल ऋण माफी की सबसे सफल योजना उत्तर प्रदेश में ही रही है.

'विकास एवं सुशासन के 30 माह'
मुख्यमंत्री ने कहा, "मैं पीएम नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री एवं बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का आभारी हूं, जिनके निर्देशन में सरकार अपना कार्यकाल सफलता से पूरा कर रही है. बेहतर टीम वर्क के चलते हमारी सरकार ने ढाई साल का ये कार्यकाल 'विकास एवं सुशासन के 30 माह' के तौर पर पूरा किया है."




यूपी का परसेप्शन बदला
मुख्यमंत्री ने कहा, "प्रदेश में सरकार बनने के बाद जैसे मोदी जी ने जाती, मद, धर्म से ऊपर उठ कर शासन की योजनाओ को केंद्र में रख कर काम शुरू किया था, उसी को देखते हुए हमने काम शुरू किया था. उत्तरप्रदेश के परसेप्शन को बदलने के लिए हमारी सरकार ने बड़े स्तर पर काम किया. लंबे समय से किसान पहले बदहाल था. कभी भी प्रदेश सरकारो ने इस पर ध्यान नही दिया था. हमने पहली कैबिनेट में ही किसानों के कर्ज माफ किये. हमने किसानों की फसल के लिए साइल हेल्थ कार्ड देना शुरू किया. प्रधानमंत्री किसान संम्मान निधि की शुरुआत हमने की. प्रदेश के अंदर किसानों की आय को दुगुना करने के लिए हमने कृषि विज्ञान केंद्र खोले. प्रदेश के अंदर 73 हज़ार करोड़ का गन्ना किसानों का भुगतान हमारी सरकार ने किया है. जल संचयन पर भी प्रदेश बड़े स्तर पर योजनाएं चला रही हैं.

ये भी पढ़ें:

कुशीनगर: दिग्विजय सिंह पर केस दर्ज, भगवा वस्त्र पहनकर मंदिरों में रेप का दिया था बयान

चिन्मयानंद यौन शोषण मामला: पीड़िता बोली- इंसाफ नहीं मिला तो कर लूंगी आत्मदाह
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज