लाइव टीवी

CM योगी ने कैबिनेट बैठक में मंत्रियों की तरह अफसरों के मोबाइल ले जाने पर लगाई रोक

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 4, 2019, 2:49 PM IST
CM योगी ने कैबिनेट बैठक में मंत्रियों की तरह अफसरों के मोबाइल ले जाने पर लगाई रोक
सीएम योगी आदित्यनाथ कैबिनेट बैठक में अफसरों के मोबाइल लाने पर पर प्रतिबंध लगा दिया है.

दरअसल बीते मंगलवार को सीएम योगी (CM Yogi) की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक (Cabinet Meeting) में सीएम एक प्रस्ताव को लेकर चर्चा कर रहे थे. इसी बीच एक अधिकारी को मोबाइल का प्रयोग करते देख मुख्यमंत्री नाराज हो उठे.

  • Share this:
लखनऊ. कैबिनेट बैठक (Cabinet Meetings) में अधिकारियों के मोबाइल (Mobile) के इस्तेमाल पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने नाराजगी जताई है. इसके बाद सीएम ने कैबिनेट बैठक में अधिकारियों के मोबाइल लाने पर रोक लगा दी है. बता दें इसी साल जून में प्रदेश सरकार के मंत्रियों पर कैबिनेट बैठक में मोबाइल लाने पर पाबंदी लगाई गई थी. अब 6 महीने बाद अफसरों के लिए निर्देश दिए गए हैं. अब कैबिनेट बैठक में जाने से पहले अधिकारियों को भी मोबाइल बाहर रखना होगा.

दरअसल बीते मंगलवार को योगी सरकार की एक अहम बैठक बुलाई गई थी. सीएम योगी की अध्यक्षता में हुई इस कैबिनेट बैठक में 34 अहम प्रस्तावो को मंजूरी दी गई थी. सूत्रों के मुताबिक सीएम योगी इस दौरान एक प्रस्ताव को लेकर चर्चा कर रहे थे. लेकिन इसी बीच सीएम योगी एक अधिकारी को मोबाइल का प्रयोग करते देख नाराज हो उठे. सीएम योगी नें कैबिनेट बैठक के दौरान हो रही गंभीर चर्चाओ के बीच मोबाइल के प्रयोग पर न सिर्फ संबंधित अधिकारी को जमकर फटकार लगाई, बल्कि अगली कैबिनेट बैठक में अधिकारियो को भी अपना फोन बाहर रखकर आने का मौखिक निर्देश दे दिया है.

जून में मंत्रियों के मोबाइल लेकर आने पर लगी थी रोक

वैसे जून महीने में जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैबिनेट बैठकों के दौरान मंत्रियों के मोबाइल फोन लाने पर पाबंदी लगाई थी तो कहा गया था कि सरकार ने इलेक्‍ट्रॉनिक उपकरणों की हैकिंग और जासूसी के खतरे को देखते हुए ये फैसला लिया है. इससे पहले मंत्रियों को मोबाइल फोन लाने की अनुमति थी. हालांकि, उसे स्विच ऑफ करने या साइलेंट मोड पर रखना होता था.

मंत्रियों को दिए आदेश में कहा गया कि अब कैबिनेट बैठक के दौरान मंत्रियों को अपना मोबाइल फोन बाहर जमा कराना होगा. सीएम योगी आदित्यनाथ चाहते हैं कि मंत्रिमंडल की बैठकों में होने वाली चर्चा पूरी गंभीरता व बिना किसी व्यवधान के हो. मंत्रिमंडल के सदस्यों के बीच यदाकदा मोबाइल फोन अचानक बजने से बैठक में दिक्कतें आती हैं. यही नहीं बैठक के वक्त फोन पर आने वाले मैसेज पढ़ने से अच्छा संदेश नहीं जाता है. वैसे कुछ मंत्री सीएम द्वारा बुलाई बैठकों में जाने से पहले अपने निजी सचिवों को थमा देते हैं लेकिन यह काम उन्हें भूतल पर ही करना होता है.

मंत्रियों को दिए जाते हैं टोकन

नई व्यवस्था में मंत्रियों को कोई असुविधा न हो, इसके लिए टोकन की व्यवस्था की गई. इसका जिम्मा सामान्य प्रशासन विभाग को दिया गया. इसके तहत जब मंत्री मंत्रिपरिषद कक्ष में सीएम द्वारा बुलाई गई बैठकों में जाएंगे तो वह मोबाइल फोन टोकन लेकर बाहर जमा कराएंगे. बाद में कक्ष से बाहर आने पर टोकन के जरिए उसे वापस ले सकेंगे.
Loading...

ये भी पढ़ें:

जानिए क्यों कार्यक्रम के बीच अचानक खिल-खिलाकर हंस पड़े सीएम योगी आदित्यनाथ

प्रेमी से दूर रहने को भेजा ननिहाल, मामा ने भांजी को ही मारकर पेड़ से लटकाया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2019, 2:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...