कानून व्यवस्था को लेकर CM योगी ने लगाई जिलों के डीएम, एसपी की क्लास, दी ये नसीहत

मुख्यमंत्री ने सभी डीएम और पुलिस कप्तानों को निर्देश दिया कि वे सुबह 9 से 10 बजे तक जनता से मिलें.

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 12, 2019, 4:20 PM IST
कानून व्यवस्था को लेकर CM योगी ने लगाई जिलों के डीएम, एसपी की क्लास, दी ये नसीहत
कानून व्यवस्था को लेकर सीएम योगी ने की समीक्षा बैठक
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 12, 2019, 4:20 PM IST
उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था और विकास परियोजनाओं को जमीनी स्तर पर उतारने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजधानी लखनऊ में कई जिलों के जिलाधिकारियों और पुलिस कप्तानों के साथ समीखा बैठक की. इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानून व्यवस्था और विकास योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के सख्त निर्देश दिए.

मुख्यमंत्री ने सभी डीएम और पुलिस कप्तानों को निर्देश दिया कि वे सुबह 9 से 10 बजे तक जनता से मिलें. उन्होंने कहा कि जनता से बातचीत करने पर उन्होंने वास्तविकता का पता चलेगा. सीएम ने कहा कि गरीब की भाषा गलत हो सकती है, लेकिन भावना नहीं. इसके अलावा वरिस्थ अधिकारीयों को भी जिलों में निरीक्षण करने का निर्देश दिया. सभी बड़े अफसर 15 से 20 जून तक जिलों का भ्रमण करेंगे. इसके बाद मुख्यमंत्री खुद 21 जून से मंडलीय स्तरीय निरीक्षण के लिए निकलेंगे.



जनता से बनाएं बेहतर संवाद

समीक्षा बैठक के बाद प्रेस कांफ्रेंस में मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय ने बताया कि मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि सभी जिलाधिकारी और पुलिस कप्तान अनिवार्य रूप से प्रतिदिन कम से कम एक घण्टा जनता से मिलें, इसमें किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी. उन्होंने कहा कि समस्त जिलाधिकारियों एवं पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से यह अपेक्षा है कि वो जनता से बेहतर संवाद बनाये ताकि संवेदनहीनता और संवादहीनता की स्थिति पैदा न हो. साथ ही यह भी निर्देश दिए हैं कि सभी अधिकारी अपनी-अपनी रिपोर्ट 20 जून, 2019 तक मुख्य सचिव के माध्यम से मुख्यमंत्री को सौपेंगे.

विकास योजनाओं की जिम्मेदारी डीएम की

अनूप चंद्र पांडेय ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा संचालित सभी योजनाओं के क्रियान्वयन की जिम्मेदारी जिलाधिकारी की है. चाहे वह ओडीएफ हो, प्रधानमंत्री आवास योजना, राशन कार्ड, आयुष्मान भारत, मुद्रा लोन, स्टार्ट अप इंडिया जैसी योजनाओं में तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं. इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर किसी लावारिश की मृत्यु होती है तो उसके अंतिम संस्कार के लिए जिले डीएम ग्राम प्रधान निधि से पांच हजार रुपए दिए जाएं. इसके अलावा राशन के लिए दो हजार रुपए की सहायता भी दी जाए.

(इनपुट: आरिफ खान)
Loading...


ये भी पढ़ें: लखनऊ को अवैध डेयरियों से मिलेगी निजात, 21 से चलेगा ऑपरेशन ऑल आउट

ये भी पढ़ें: यूपी में अब सेशन कोर्ट भी दे सकेंगे अग्रिम जमानत, गृह विभाग ने जारी किया आदेश

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास,सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदीWhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...