लाइव टीवी

CM योगी ने संत रविदास को किया नमन, कहा- जाति-पंथ के भेद से दूर सम्पूर्ण समाज को किया जागृत
Lucknow News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 9, 2020, 12:18 PM IST
CM योगी ने संत रविदास को किया नमन, कहा- जाति-पंथ के भेद से दूर सम्पूर्ण समाज को किया जागृत
CM योगी ने संत रविदास को किया नमन (file photo)

संत रविदास ने सभी को प्रेम और भाईचारे के साथ रहने की सीख दी. संत रविदास के 40 सबद गुरु ग्रंथ साहिब में दर्ज हैं. उनकी एक कहावत ‘जो मन चंगा तो कठौती में गंगा' काफी प्रचलित है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 9, 2020, 12:18 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. संत शिरोमणि रविदास जी (Saint Ravidas) की 643वीं जयंती के मौके पर रविवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने नमन किया. सीएम योगी ट्वीट करके कहा, महान संत, कवि व समाज-सुधारक संत रविदास जी को उनकी जयंती पर कोटिशः नमन.' उन्होंने कहा कि जाति-पंथ के भेद से दूर समरस समाज की स्थापना के लिए संत रविदास जी ने अपने व्यक्तित्व एवं कृतित्व से सम्पूर्ण समाज का विवेक जागृत किया. आपके विचार एवं आपका दर्शन सदा सर्वदा हमारा पथ-प्रदर्शन करेंगे. संत रविदास ने सभी को प्रेम और भाईचारे के साथ रहने की सीख दी. संत रविदास के 40 सबद गुरु ग्रंथ साहिब में दर्ज हैं. उनकी एक कहावत ‘जो मन चंगा तो कठौती में गंगा' काफी प्रचलित है.

संत रविदास का जन्म
वैसे तो संत रविदास के जन्म की प्रामाणिक तिथि को लेकर विद्वानों में मतभेद हैं, लेकिन अधिकतर विद्वान सन् 1398 में माघ शुक्ल पूर्णिमा को उनकी जन्मतिथि मानते हैं. कुछ विद्वान सन् 1388 को उनका जन्‍म वर्ष मानते हैं. हालांकि, हर साल माघ पूर्णिमा को संत रविदास की जयंती मनाई जाती है.



माघ मास की पूर्णिमा को जब रविदासजी ने जन्म लिया वह रविवार का दिन था, जिसके कारण इनका नाम रविदास रखा गया. रविदास चर्मकार कुल में पैदा हुए थे. इस कारण आजीविका के लिए भी इन्होंने अपने पैतृक कार्य में ही मन लगाया. कहा जाता है कि वह जूते इतनी इतनी लगन और मेहनत से बनाते मानो स्वयं ईश्वर के लिए बना रहे हों.

ये भी पढ़ें:

माघी पूर्णिमा पर संगम में डुबकी लगाने उमड़ा श्रद्धालुओं का जनसैलाब, जानिए कल्पवासी स्नान का महत्व

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 9, 2020, 12:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर