लाइव टीवी

दिल्ली हिंसा पर बोले सीएम योगी- गलतफहमी न पालें, कयामत का दिन कभी नहीं आने वाला
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 26, 2020, 3:37 PM IST
दिल्ली हिंसा पर बोले सीएम योगी- गलतफहमी न पालें, कयामत का दिन कभी नहीं आने वाला
सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने पूछा कि आखिर नागरिकता संशोधन कानून को लेकर इतना बवाल क्यों है?

सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा कि एक बात वह साफ-साफ नोट कर लें कि गलतफहमी के शिकार न हों क्योंकि कयामत का दिन कभी नहीं आएगा. कोई गलतफहमी का शिकार होगा तो उसका समाधान हम अच्छे से करना जानते हैं.

  • Share this:
लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ (CM Yogi Adityanath) ने बुधवार को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर यूपी में हो रहे प्रदर्शनों और दिल्ली में हिंसा (Delhi Violence) पर सवाल खड़े किए हैं. सीएम योगी ने पूछा कि आखिर नागरिकता संशोधन कानून को लेकर इतना बवाल क्यों है? आखिर देश की छवि आप लोग क्यों खराब करना चाहते हैं? देश में आगजनी करके तोड़फोड़ करके निर्दोष लोगों को निशाना बनाकर वे लोग क्या चाहते हैं?

इसके साथ ही सीएम योगी ने कहा कि एक बात वह साफ-साफ नोट कर लें कि वह गलतफहमी के शिकार न हों. क्योंकि कयामत का दिन कभी नहीं आएगा. कोई गलतफहमी का शिकार होगा तो उसका समाधान हम अच्छे से करना जानते हैं.

CAA के खिलाफ विरोध प्रदर्शन अनावश्यक है: सीएम योगी
सीएम योगी ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के नाम पर विरोध प्रदर्शन अनावश्यक है. यह नागरिकता देने का कानून है. प्रधानमंत्री बार-बार कह चुके हैं, इससे किसी से नागरिकता नहीं जाने वाली है. यह कानून 1955 में कांग्रेसी सरकार ने बनाया था, इसमें सिर्फ एक संशोधन किया गया है. 11 वर्ष के जगह पर 5 वर्ष कर दिया गया है. सीएम योगी ने कहा कि वह बनाएंगे तो ठीक है, हम बना दें तो बुरा है? कोई जगह नहीं मिली इनको. हर जगह अव्यवस्था पैदा करके भ्रम फैला रहे हैं. जिस प्रशासनिक मशीनरी को विकास के काम में जोड़ना चाहिए था, उसे जबरदस्ती केवल कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए उसकी ऊर्जा को डायवर्ट किया जा रहा है.



विपक्ष सदन में करे विरोध
सीएम ने कहा कि प्रदेश के विकास को रोक रहे हैं. देश की छवि को खराब कर रहे हैं. जब देश-दुनिया के आर्थिक ताकत बनने के करीब है, तब विपक्ष का यह रवैया गैर जिम्मेदाराना पूर्ण है. उन्होंने कहा कि यह एक स्वस्थ लोकतंत्र के लिए शुभ लक्षण नहीं माना जा सकता. हम लोग गलतफहमी पैदा करना बंद करें. विरोध सदन में करें, विपक्ष को इससे अच्छा मंच कहीं नहीं मिल सकता.

इनपुट: अजीत सिंह

ये भी पढ़ें:

पहले गई अब्दुल्ला की विधायकी, अब आजम को जेल, जानिए क्या है पूरा केस

आजम को जेल भेजने के निर्णय का बीजेपी ने किया स्वागत, अखिलेश से किया ये सवाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 26, 2020, 3:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,709

     
  • कुल केस

    6,412

     
  • ठीक हुए

    503

     
  • मृत्यु

    199

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 10 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,152,323

     
  • कुल केस

    1,604,718

    +1,066
  • ठीक हुए

    356,660

     
  • मृत्यु

    95,735

    +42
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर