सीएम योगी बोले- अपनी जिम्मेदारियां समझें, क्या सरकार अब लोगों के बच्चे भी पाले?

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को लोगों को उनकी जिम्मेदारियों का एहसास कराते हुए कहा कि हर बात के लिए सरकार पर ही निर्भर रहना और उसे ही जिम्‍मेदार ठहराना ठीक नहीं है. लोगों को भी अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए.

News18Hindi
Updated: August 30, 2017, 6:02 PM IST
सीएम योगी बोले- अपनी जिम्मेदारियां समझें, क्या सरकार अब लोगों के बच्चे भी पाले?
File photo - PTI
News18Hindi
Updated: August 30, 2017, 6:02 PM IST
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को लोगों को उनकी जिम्मेदारियों का एहसास कराते हुए कहा कि हर बात के लिए सरकार पर ही निर्भर रहना और उसे ही जिम्‍मेदार ठहराना ठीक नहीं है. लोगों को भी अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए.

लखनऊ के साइंटिफिक कन्वेंशन सेंटर में स्टार्टअप यात्रा कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा, 'आज लोगों की सोच काफी गैर जिम्मेदाराना हो गई है. मुझे लगता है कि कहीं ऐसा न हो कि लोग अपने बच्चों को दो साल के होते ही सरकार के भरोसे छोड़ दें. सरकार ही लोगों के बच्‍चों का पालन पोषण करे. लोग अपनी जिम्मेदारियों से भागते हैं. लोगों की आदत होती है कि हर काम के लिए सरकार के भरोसे रहते हैं.'

सीएम योगी ने आगे कहा कि मीडिया कहती है कि फलानी जगह कूड़ा पड़ा है. हम लोग मानते हैं कि सरकार की जिम्मेदारी है. लेकिन लगता है हम खुद सारी जिम्मेदारियों से मुक्त हो गए हैं. सीएम ने कहा कि हमारे यहां छुट्टे जानवरों की समस्या है. सड़कों पर जानवर छोड़ दिये जा रहे हैं. लोग चाहते हैं कि चारे का इंतजाम सरकार करे, गोबर सरकार उठाए. दूध आप पियें और गौवंश को छुट्टा छोड़ दें, ये सही नहीं है.


Loading...

सीएम ने कहा कि स्टार्टअप से सभी को जोड़ना है. स्टार्टअप के लिए यूपी सरकार काम कर रही है. हर व्यक्ति के अंदर कोई न कोई क्षमता है. हर अक्षर में मंत्र बनने की क्षमता है. सभी वनपस्तियों में औषधीय गुण होते हैं. उसी तरह हर इंसान में योग्यता होती है.

उन्होंने कहा कि राजनीति एक व्यवसाय जैसी हो गई थी. यूपी सरकार ने 1 हजार करोड़ के फंड की व्यवस्था की. एमओयू पर 15 सितंबर को हस्ताक्षर होगा.


उन्होंने कहा कि हम अपनी जिम्मेदारियों से बचते हैं. हमें अपनी जिम्मेदारी भी समझनी होगी. सीएम ने कहा कि कूड़े का प्रबंधन ऐसे हो कि कोई नुकसान न हो. जितने भी अच्छे आविष्कारक हुए वो बहुत ब्रिलियंट नहीं हुए लेकिन लगातार प्रयास से उन्होने बड़े-बड़े काम किए. आज देश का सबसे बड़ा लोहार हो गया टाटा, हमारे देश का सबसे बड़ा मोची बाटा हो गया.


उन्होंने कहा कि स्टार्ट अप के इस पहले चरण में नौजवानों को उसके क्षेत्र में 75 जिलों में तैनात करेंगे. जिस क्षेत्र में उनकों जानकारी होगी. हम ऑप्टिकल लाइन से 27 हजार गावों को जोड़ने जा रहे है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर