लाइव टीवी

सरदार पटेल ने जन मूल्यों पर जिया अपना जीवन, हम उसे अपना हिस्सा बनाएं: सीएम योगी

Mohd Shabab | News18 Uttar Pradesh
Updated: October 31, 2019, 10:18 AM IST
सरदार पटेल ने जन मूल्यों पर जिया अपना जीवन, हम उसे अपना हिस्सा बनाएं: सीएम योगी
सीएम योगी ने बताया कि 6 जनवरी 1948 में सरदार पटेल लखनऊ आए थे, यहां राजभवन में उन्होंने एक पेड़ लगाया था. वाराणसी के बीएचयू में उन्हें डीलिट की उपाधि दी गई.

सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा कि देश में एकता की मिसाल को आगे बढ़ते हुए रन फ़ॉर यूनिटी (Run For Unity) कार्यक्रम आयोजित किये गए हैं. राष्ट्र की एकता और अखंडता को खत्म करने का अंग्रेजों ने प्रयास किया तो पटेल जी ने उनके सपनों को चकनाचूर किया.

  • Share this:
लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने सरदार वल्लभ भाई पटेल (Sardar Vallabhbhai Patel) की जयंती के अवसर पर गुरुवार को रन फ़ॉर यूनिटी (Run For Unity) के लिए हरी झंडी दिखाई. लखनऊ के जीपीओ पर सरदार पटेल की प्रतिमा से शुरू हुई दौड़ केडी सिंह बाबू स्टेडियम पर जाकर समाप्त हुई. इस दौरान अपने संबोधन में सीएम योगी ने कहा कि सैकड़ों वर्षो की गुलामी के बाद जब अखंडता पर आंच आई, तब सरदार पटेल ने सर्वाधिक प्रयास किया था. सरदार पटेल की प्रधानमंत्री नरेंद्र मादी ने उनकी जन्मभूमि पर उनकी सबसे बड़ी प्रतिमा को स्थापित करके पटेल के व्यक्तित्व से देश-दुनिया को बताया. सीएम ने कहा कि देश में एकता की मिसाल को आगे बढ़ते हुए रन फ़ॉर यूनिटी कार्यक्रम आयोजित किये गए हैं. राष्ट्र की एकता और अखंडता को खत्म करने का अंग्रेजों ने प्रयास किया तो पटेल जी ने उनके सपनों को चकनाचूर किया.

यूपी में आयोजित हो रहे कई कार्यक्रम

सीएम योगी ने कहा कि 563 रियासतों को एक संवाद के माध्यम से भारत गणराज्य बनाने का काम पटेल जी ने किया. उन्होंने कहा कि अनगिनत प्रयासों के बाद हमें आज़ादी मिली है. हम सबको एकता बनाए रखने का संकल्प लेना चाहिए. आज उत्तरप्रदेश में बहुत सारे कार्यक्रम सम्पन्न हो रहे हैं. पुलिस मुख्यालय और थानों में राष्ट्रीय अखण्डता के लिए शपथ ली जाएगी. शाम को पुलिस का मार्च पास्ट किया जाएगा.

उत्तर प्रदेश के राजभवन में पटेल ने लगाया था पेड़

उन्होंने कहा कि हर नागरिक की ज़िम्मेदारी बनती है कि जिन मूल्यों पर सरदार पटेल ने अपना जीवन जिया था, हम सब उसे अपने जीवन का हिस्सा बनाएं. उन्होंने कहा कि आज सरदार पटेल की 145वीं जयंती है. 6 जनवरी 1948 में वो लखनऊ आए थे, यहां राजभवन में उन्होंने एक पेड़ लगाया था. वाराणसी के बीएचयू में उन्हें डीलिट की उपाधि दी गई. प्रयागराज में भी उन्हें डी लिट की उपाधि दी गई. देहरादून में भी उनका जाना हुआ और लोगों को उनका मार्गदर्शन प्राप्त हुआ.

ये भी पढ़ें:

रेप आरोपी चिन्मयानंद को जमानत नहीं, वकील बोला- बीमारी की वजह से कराते थे मालिश
Loading...

अपने ही अपहरण की साजिश रचने में इस शख्स ने पैरों में ठोकी कील और बांध ली जंजीर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 10:18 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...