Home /News /uttar-pradesh /

CM योगी आदित्यनाथ बोले- जब तक कश्मीर में हिंदू राजा थे, हिंदू और सिख सुरक्षित थे

CM योगी आदित्यनाथ बोले- जब तक कश्मीर में हिंदू राजा थे, हिंदू और सिख सुरक्षित थे

लखनऊ में आयोजित सिख समागम को संबोधित करते योगी आदित्यनाथ

लखनऊ में आयोजित सिख समागम को संबोधित करते योगी आदित्यनाथ

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा गुरुनानक देव महाराज के 550 वे वर्ष का कार्यक्रम कुछ ही दिनों बाद शुरू होगा. सिख पंत का गुरुनानक देव से गुरु गोविंद सिंह जी तक का स्वर्णिम इतिहास रहा है. सिख पंत का इतिहास भारत को सदैव शक्ति देता रहेगा. सिख समाज को कुछ मांगने की जरूरत नहीं है.

अधिक पढ़ें ...
    राजधानी लखनऊ में आयोजित सिख समागम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि जब तक कश्मीर में हिंदू राजा था तब तक हिंदू और सिख सुरक्षित थे. हिंदू राजा के पतन के साथ ही हिंदू और सिख दोनों असुरक्षित हो गए. उन्होंने कहा कि आज कश्मीर की स्थिति क्या है? कोई अपने को सुरक्षित बोल सकता है? नहीं हमें इतिहास सीखना चाहिए.

    सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा गुरुनानक देव महाराज के 550 वे वर्ष का कार्यक्रम कुछ ही दिनों बाद शुरू होगा. सिख पंत का गुरुनानक देव से गुरु गोविंद सिंह जी तक का स्वर्णिम इतिहास रहा है. सिख पंत का इतिहास भारत को सदैव शक्ति देता रहेगा. सिख समाज को कुछ मांगने की जरूरत नहीं है.

    मुख्यमंत्री ने कहा, "ये देश स्वतंत्र भारत में कश्मीर को नहीं बचा सका, जबकि गुरुतेग बहादुर सिंह ने अपना बलिदान देकर कश्मीर की रक्षा की. गुरु गोविंद सिंह ने अपने देश और धर्म के लिए 4-4 पुत्रों का बलिदान दिया. सिख गुरुओं ने अपने देश और धर्म के लिए बलिदान दिया."

    इस अवसर पर उन्होंने सिखों से अपने देश और धर्म के लिए सदैव बलिदान करने को तैयार रहने की बात कही. सीएम ने गुरुगोविंद सिंह की शक्ति और साधना का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा गुरुवाणी में राम नाम के जिक्र से दुर्लभ उदहारण नहीं मिलता. सिख समाज का स्वाभाविक हक़ उसे मिलकर रहेगा.

    मुख्यमंत्री ने कहा, "अपने सहयोग करने वालो के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करना सनातन धर्म की परंपरा रही है. आज हिंदुओं और सिख के बीच कोई भेद नहीं होना चाहिए. हिंदुओं और सिखों के बीच फूट डालने वाले गुरु परंपरा का अपमान कर रहे हैं. गुरुद्वारे में आप से ज्यादा मेरा अधिकार है. मैं बिना बुलाए जाता हूं. इस देश को बचाने के लिए खालसा पंत की गुरुगोविंद सिंह ने स्थापना की. कश्मीरी पंडितों के लिए गुरु तेग बहादुर सिंह ने बलिदान दिया. गुरुतेग बहादुर सिंह इस देश के भाग्य विधाता थे. गोरखपुर में मैं सिख परिवार के पास कभी वोट नही मांगने गया. सिख समाज ने खुद हमेशा मेरे लिए वोट मांगा. सिख गुरुओं के किसी भी पर्व में हम सब आगे बढ़कर सहयोग करते हैं."

    मुख्यमंत्री ने कहा कि आपस में भेद करने वालों की स्थिति अफगानिस्तान जैसी दयनीय हो जाएगी. सिख परंपरा का ये केसरिया ध्वज सपा, बसपा वाले नही सिर्फ बीजेपी वाले ही लगा सकते हैं. भारत की राष्ट्रीयता, महानपुरुषो का अपमान करने वाले हमारे नहीं हो सकते. यूपी में आज हर सिख सुरक्षित है.

    इस मौके पर बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सिखों के साथ हुए अन्याय की एसआईटी जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. सीएम योगी ने गुरुनानक देव के प्रकाशोत्सव को भव्यता से मनाने का भी आश्वासन दिया. उन्होंने कहा कि गुरुगोविंद सिंह और गुरुतेग बहादुर सिंह के नाम पर किसी बड़ी संस्था का नामकरण होगा.सीएम योगी ने 2019 में मोदी सरकार बनाने की अपील की.

    (इनपुट: राजीव पी सिंह)

    ये भी पढ़ें: 

    विनय कटियार बोले- कांग्रेस के दबाव में बार-बार टाली जा रही है अयोध्या विवाद की सुनवाई

    राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी ने बीजेपी को दी नसीहत, राम मंदिर पर न करें राजनीति

    अयोध्या विवाद पर बोले इकबाल अंसारी- फैसला जल्द हो, सियासी रोटियां सेंक रहे हैं राजनेता

    अयोध्या विवाद: अब जरूरत मुल्क के इस बड़े मसले के हल होने की है: फरंगी महली

    राम जन्मभूमि के मुख्य पुजारी ने बीजेपी को दी नसीहत, राम मंदिर पर न करें राजनीति

    कट्टरपंथी मुल्लाओं और कांग्रेस की वजह से अयोध्या विवाद कोर्ट में फंसा: वसीम रिजवी

    Tags: Lucknow news, Up news in hindi, Yogi adityanath

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर