UP में अब तक COVID-19 के डेढ़ करोड़ टेस्ट, CM योगी बोले- बचाव के लिए 'SMS' का पालन जरूरी

सीएम योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)
सीएम योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री (CM Yogi Adityanath) ने रविवार को अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे. उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ पूरी सतर्कता और सावधानी बरतना बहुत जरूरी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 1, 2020, 2:20 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा कि लखनऊ (Lucknow) में कोरोना (COVID-19) पर प्रभावी अंकुश के लिए रणनीति बनायी जाए. उन्होंने कहा कि राजधानी में डेंगू के प्रसार को रोकने के लिए साफ-सफाई का अभियान पूरी सक्रियता से चलाया जाए. इसके साथ ही एण्टीलार्वा छिड़काव और फाॅगिंग भी नियमित रूप से करवाई जाए. उन्होंने निर्देश दिए कि डेंगू तथा अन्य संचारी रोगों के नियंत्रण के लिए कार्यवाई तेजी से जारी रखी जाए. सेनिटाइजेशन पूरी सक्रियता से किया जाए. कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए प्रिन्ट व इलेक्ट्राॅनिक मीडिया का प्रभावी इस्तेमाल किया जाए.

मुख्यमंत्री ने रविवार को अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे. उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ पूरी सतर्कता और सावधानी बरतना बहुत जरूरी है. प्रदेश में अब तक कोविड-19 के डेढ़ करोड़ टेस्ट किये जा चुके हैं, जो देश में सर्वाधिक है. त्योहारों, पर्वाें को देखते हुए सभी को कोरोना के प्रति निरन्तर विशेष सतर्कता बरतने की आवश्यकता है. कोरोना की रोकथाम के सम्बन्ध में निर्धारित प्रोटोकाॅल का कड़ाई से पालन सभी को इस संक्रमण से बचा सकता है. मास्क का उपयोग, दो गज की दूरी, हाथों को साबुन से बार-बार धोना और सैनिटाइज करने से इस बीमारी को फैलने से रोका जा सकता है. उन्होंने कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए लोगों को 'एसएमएस’ (सैनिटाइजेशन, मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग) के प्रति जागरूक किए जाने पर बल दिया.

बैठक में ये भी रहे मौजूद



इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य राज्य मंत्री अतुल गर्ग, मुख्य सचिव आरके तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश सी अवस्थी, अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई एवं सूचना नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायतीराज मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, अपर मुख्य सचिव महिला कल्याण एवं बाल विकास एस राधा चैहान, प्रमुख सचिव पशुपालन भुवनेश कुमार, प्रमुख सचिव स्वास्थ्यआलोक कुमार, सचिव मुख्यमंत्रीआलोक कुमार, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज