योगी सरकार ने रोकी समाजवादी पेंशन

Image Source: File Photo of cm yogi aditya nath

Image Source: File Photo of cm yogi aditya nath

एक महीने में फिर से शुरू होगी पेंशन योजना, इसमें अति दलितों को भी जोड़ने का निर्देश दिया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 12, 2017, 1:11 PM IST
  • Share this:

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना समाजवादी पेंशन पर फिलहाल रोक लगा दी है. योगी सरकार की योजना इसे एक महीने में नए सिरे से शुरू करने की है. अब सरकार का अगला निशाना अखिलेश की ड्रीम प्रोजेक्ट साइकिल ट्रैक भी है, जिसे राजधानी लखनऊ की सड़कों से हटाया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: योगी की दूसरी कैबिनेट: किसानों को राहत, भ्रष्टाचारियों पर मार

पेंशन को लेकर क्या है योजना ?



योगी सरकार, समाजवादी पेंशन योजना के तहत चयनित लाभार्थियों की न सिर्फ जांच कराई जाएगी, बल्कि योजना का नाम भी बदलकर ‘मुख्यमंत्री पेंशन योजना’ करने के निर्देश दिए हैं. जानकारी के मुताबिक पेंशन की राशि दोगुना करने का भी प्रस्ताव है और इसमें अति दलित जैसे-मुसहर, नट, कंजड़ और वनटांगिया समुदाय के लोगों को लाने के निर्देश दिए हैं.
बता दें अभी सूबे में करीब 55 लाख लोगों को समाजवादी पेंशन दी जा रही है. इसके तहत लाभार्थियों को 500 रुपए प्रतिमाह पेंशन दी जाती है. इस योजना में 3297 करोड़ रुपए हर साल खर्च होते हैं.

यह भी पढ़ें: अमिताभ ठाकुर मामले में मुलायम की आवाज के नमूने लेगी पुलिस

योगी ने मांगी जानकारी 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को शास्त्री भवन में समाज कल्याण विभाग की योजनाओं के प्रेजेंटेशन के दौरान यह निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि एक महीने में जांच करके पता लगाया जाए कि जिन लोगों को इस योजना का लाभ मिल रहा है वे वास्तव में इसके हकदार हैं या नहीं.

यह भी पढ़ें: बहराइच: भीषण आग में जलकर राख हुए 310 आशियाने, 18 मवेशी भी जले

निशाने पर साइकिल ट्रैक 

इसके अलावा अखिलेश सरकार की ड्रीम प्रोजेक्ट साइकिल ट्रैक अब योगी सरकार के निशाने पर है. सूत्रों के मुताबिक सरकार राजधानी लखनऊ में बने साइकिल ट्रैक को हटाने जा रही है. इसके लिए पहले एक सर्वेक्षण कराया जाएगा फिर इस पर फैसला होगा.

अखिलेश सरकार में इन ट्रैक को विदेशों की तर्ज पर बनाया गया था. यह भी हवाला दिया गया था कि साइकिल चलाने से सेहत ठीक रहती है. इसके अलावा मुख्यमंत्री अखिलेश ने इससे पार्टी की ब्रांडिंग भी की थी, क्योंकि समाजवादी पार्टी का सिंबल भी साइकिल ही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज