लाइव टीवी

भ्रष्टाचार के खिलाफ एक्शन में सीएम योगी, 13 अधिकारियों को किया निलंबित, विभागीय जांच के आदेश
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 24, 2020, 6:18 PM IST
भ्रष्टाचार के खिलाफ एक्शन में सीएम योगी, 13 अधिकारियों को किया निलंबित, विभागीय जांच के आदेश
सीएम योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार के खिलाफ बड़ा एक्शन लिया है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) द्वारा बदायूं कोषागार में कार्यरत 3 वरिष्ठ कोषाधिकारियों को 5 करोड़ रुपए के गबन के आरोप में निलंबित कर जांच के आदेश दिए गए हैं. उक्त प्रकरण में ही तहसीलदार स्तर के 10 अधिकारियों को भी निलंबित कर उनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं.

  • Share this:
लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश सरकार भ्रष्टाचार (Corruption) के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति पर कार्य करने का दावा कर रही है. शुक्रवार को इस दिशा में बड़ी कार्रवाई करते हुए मुख्यमंत्री ने बदायूं कोषागार में स्टाम्प मैनुअल का अनुपालन न करने एवं कार्य में शिथिलता के आरोप में 13 अधिकारियों को निलंबित कर विभागीय जांच के आदेश दिए हैं. वहीं, किसानों को बीमा क्लेम देने में आनाकानी करने वाली बीमा कंपनियों के खिलाफ भी जांच के आदेश दिए गए हैं.

5 करोड़ के गबन में 3 वरिष्ठ कोषाधिकारी नपे
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा बदायूं कोषागार में कार्यरत 3 वरिष्ठ कोषाधिकारियों को 5 करोड़ रुपए के गबन के आरोप में निलंबित कर जांच के आदेश दिए गए हैं. उक्त प्रकरण में ही तहसीलदार स्तर के 10 अधिकारियों को भी निलंबित कर उनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं.

बीमा कंपनी के खिलाफ भी जांच के आदेश

मुख्यमंत्री सर्वहित किसान बीमा योजना का क्लेम देने में बीमा कंपनी की शिकायत को मुख्यमंत्री ने गंभीरता से लेते हुए बीमा कंपनी के विरुद्ध जांच के आदेश दिए हैं. बाराबंकी में बड़ी संख्या में किसानों को बीमा क्लेम देने में आनाकानी की शिकायतें आ रही थीं. इसे देखते हुए मुख्यमंत्री ने यह आदेश जारी किया है.

विकास कार्यों के लिए धनराशि जारी करने के आदेश दिए
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद कासगंज के अलीपुर बड़वारा एवं सहसवान (बदायूं) के मध्य गंगा नदी पर सेतु के पहुंच मार्ग एवं सुरक्षात्मक कार्य निर्माण के लिए 174.97 करोड़ रुपए जारी करने के आदेश दिए हैं. इसके निर्माण से क्षेत्रीय जनता को आवगमन में सुविधा मिलेगी. इसके साथ ही जनपद बस्ती कलेक्ट्रेट के अनावासीय भवनों के निर्माण कार्य के लिए प्रायोजना की सम्पूर्ण पुनरीक्षित लागत 16 करोड़ रुपए पर प्रशासकीय एवं वित्तीय अनुमोदन प्रदान करते हुए 6.56 करोड़ रुपए अवमुक्त करने के आदेश दिए हैं.इनपुट: अजीत सिंह

ये भी पढ़ें:

अब्दुल्ला आजम का 2 जन्म प्रमाण पत्र केस: मुनादी के बाद भी पेश नहीं हुए आजम खान

लखनऊ, वाराणसी, गोरखपुर की 30 ट्रेनें 29 फरवरी तक रद्द, जानें क्या है वजह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 24, 2020, 4:44 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर