अपना शहर चुनें

States

सीएम योगी बोले- बुंदेलखंड में स्ट्रॉबेरी का उत्पादन एक चमत्कार, दिलाएगी नई पहचान

झांसी में स्ट्रॉबेरी का उत्पादन एक चमत्कार (File photo)
झांसी में स्ट्रॉबेरी का उत्पादन एक चमत्कार (File photo)

स्ट्रॉबेरी की खेती को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा कि आज यह भी तय हो ही गया कि बुंदेलखंड में सब कुछ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 18, 2021, 5:38 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने शौर्य और संस्कार की तपती धरती झांसी (Jhansi) पर स्ट्रॉबेरी उगाए जाने को किसानों के परिश्रम का परिणाम बताया है. मुख्यमंत्री का कहना है कि बुंदेलखंड में स्ट्रॉबेरी का उत्पादन किसी चमत्कार से कम नहीं है. स्ट्रॉबेरी की खेती अब बुंदेलखंड को एक नई पहचान दिलाएगी. यहां के लोगों का पलायन रोकेगी. मुख्यमंत्री ने आज यहां अपने आवास से झांसी में हो रहे स्ट्रॉबेरी महोत्सव का वर्चुअल शुभारंभ करते हुए यह दावा किया.

इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने झांसी में स्ट्रॉबेरी उगाने वाले किसान बंधुओं को हृदय से बधाई भी दी. उन्होंने कहा कि जिस तरह से स्ट्रॉबेरी की खेती को बढ़ावा देने के लिए स्ट्रॉबेरी महोत्सव आयोजित हो रहा है, उसी तर्ज पर तरह से सिद्धार्थनगर में कालानमक तथा चंदौली, बाराबंकी, कौशांबी और प्रयागराज के उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए भी महोत्सव आयोजित किये जाने चाहिए.





सैफ अली खान की वेब सीरीज 'तांडव' पर साधु-संतों ने जताई नाराजगी, आंदोलन की चेतावनी
झांसी में पहली बार स्ट्रॉबेरी महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से स्ट्रॉबेरी महोत्सव का शुभारंभ करने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि झांसी में हुआ स्ट्रॉबेरी का उत्पादन और यहां हो रहा स्ट्रॉबेरी महोत्सव चमत्कार से कम नहीं है. बुंदेलखंड के बारे में प्रदेश और देश की जो धारणा थी उसे बदलने में यह महोत्सव के अहम भूमिका निभाएगा. यहीं नहीं झांसी में हुई स्ट्रॉबेरी की खेती बुंदेलखंड को एक नई पहचान दिलाने का काम करेगी.

स्ट्रॉबेरी की खेती को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज यह भी तय हो ही गया कि बुंदेलखंड में सब कुछ है. झांसी में स्ट्रॉबेरी का उगाना जाना तो हमारे बुंदेलखंड के किसानों के परिश्रम का परिणाम है. मैं इसके लिए सभी किसान बंधुओं को हृदय से बधाई देता हूं. मुख्यमंत्री के अनुसार, स्ट्राबेरी की खेती और मार्केटिंग पर लखनऊ में केंद्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान (CISH) भी बेहतरीन काम कर रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज