लाइव टीवी

नमामि गंगे प्रोजेक्ट: कार्यों में देरी से CM योगी नाराज़, जिम्मेदार अफसरों-ठेकेदारों के खिलाफ FIR के निर्देश

Kumari Ranjana | News18 Uttar Pradesh
Updated: November 7, 2019, 11:00 AM IST
नमामि गंगे प्रोजेक्ट: कार्यों में देरी से CM योगी नाराज़, जिम्मेदार अफसरों-ठेकेदारों के खिलाफ FIR के निर्देश
सीएम योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश में नमामि गंगे प्रोजैक्ट के कार्यों में देरी को लेकर नाराजगी जाहिर की है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने नमामि गंगे परियोजना (Namami Gange) में मिशन डायरेक्टर नियुक्त करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि मिशन डायरेक्टर सीधे परियोजना स्थलों का दौरा कर गुणवत्ता के साथ समयबद्ध तरीके से कार्य को पूरा करवाएगा.

  • Share this:
लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने नमामि गंगे परियोजना (Namami Gange) से जुड़े कार्यों की समीक्षा की है. समीक्षा बैठक के दौरान कार्यों में हो रही देरी पर मुख्यमंत्री ने नाराजगी जाहिर की. उन्होंने निर्देश दिया कि जो भी ठेकेदार और अधिकारी कार्य में देरी की वजह बन रहे हैं, उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जाए. सीएम योगी ने नमामि गंगे परियोजना में मिशन डायरेक्टर नियुक्त करने के भी निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि मिशन डायरेक्टर सीधे परियोजना स्थलों का दौरा कर गुणवत्ता के साथ समयबद्ध तरीके से कार्य को पूरा करवाएगा.

वाराणसी में देव दिवाली से पहले घाटों का काम हो जाए पूरा

इसके साथ ही उन्होंने परियोजना के कार्यों में देरी करने वाले ठेकेदारों और अधिकारियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही करने के भी निर्देश दिए. सीएम योगी ने निर्देश दिया है कि 12 नवंबर को देव दिवाली का कार्यक्रम वाराणसी में आयोजित होगा, इससे पहले वहां सभी घाटों का कार्य पूरा हो जाना चाहिए.

बरेली, आगरा, गाजीपुर और मथुरा के एक्सईएन और चीफ इंजीनियर को भेजें नोटिस

मुख्यमंत्री ने कहा कि बरेली, आगरा, गाजीपुर और मथुरा में इस परियोजना के तहत आठ जुलाई से कार्य लंबित हैं, इसके लिए सिंचाई विभाग के एक्सईएन और चीफ इंजीनियर को नोटिस भेजकर तीन दिन में जवाबदेही तय की जाए. जरूरत पड़े तो उच्च अधिकारियों को भी जवाबदेह बनाया जाए.

CM Yogi Adityanath in meeting
नमामि गंगे प्रोजेक्ट की समीक्षा बैठक के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ


उन्होंने विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि कई महीने से गायब रहने वाले फिरोजाबाद नगर निगम के चीफ इंजीनियर पर तत्काल कड़ी कार्रवाई की जाए. इस बैठक में जलशक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह समेत सभी विभागों से प्रमुख सचिव मौजूद थे. यह समीक्षा बैठक लखनऊ स्थित मुख्यमंत्री आवास 5, कालीदास मार्ग पर हुई.
Loading...

ये भी पढ़ें:

UPPCL पीएफ घोटाला की जांच में आई तेजी, आनंद कुलकर्णी बने SSP EOW

अयोध्या फैसले से पहले अम्बेडकरनगर में बनाई गई आठ अस्थाई जेल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 10:28 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...