UP के सीएम योगी आदित्‍यनाथ के पिता का निधन, AIIMS में चल रहा था इलाज
Lucknow News in Hindi

UP के सीएम योगी आदित्‍यनाथ के पिता का निधन, AIIMS में चल रहा था इलाज
बिष्ट लंबे समय से किडनी और लिवर की समस्या से पीड़ित थे. (फाइल फोटो)

आनंद सिंह बिष्‍ट को किडनी और लिवर की समस्‍या थी. उनकी गंभीर हालत को देखते हुए उन्‍हें AIIMS में भर्ती करवाया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2020, 12:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath)  के पिता आनंद सिंह बिष्ट (Anand Singh Bisht) का सोमवार सुबह दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में निधन हो गया. एम्स के मुताबिक,  सुबह 10.44 पर सीएम योगी के पिता ने अंतिम सांस ली. अब शव को पैतृक गांव पंचूर (उत्तराखंड) ले लाया जा रहा है. इसकी तैयारी की जा रही है. कहा जा रहा है कि बिष्ट के शव को सोमवार को ही उत्तराखंड ले जाया जाएगा. उनके निधन की आधिकारिक जानकारी उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) अवनीश के. अवस्‍थी ने दी. उन्होंने आनंद सिंह बिष्ट के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि ये मुश्किल का दौर है और हमारी सांत्वनाएं सीएम योगी आदित्यनाथ सिंह के साथ हैं.



सूचना मिलने पर भी जारी रखी बैठक
पिता की मौत की सूचना सीएम योगी आदित्यनाथ को टीम 11 की बैठक के दौरान मिल गई थी. लेकिन वे इस दौरान विचलित नहीं हुए और अपना काम उन्होंने लगातार जारी रखा. कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने को लेकर जारी इस बैठक में उन्होंने जरूरी दिशा निर्देश दिए. हालांकि इस दौरान उनकी आंखें नम जरूर थीं.



एयर एंबुलेंस से लाए थे दिल्ली
इससे पहले 89 वर्षीय आनंद सिंह बिष्ट की हालत ज्यादा खराब होने पर उन्हें उत्तराखंड में पौड़ी- गढ़वाल जिले के ग्राम पंचूर से एयर एंबुलेंस के जरिये एम्स दिल्ली लाया गया था. पिछले एक महीने से एम्स के एबी वॉर्ड में भर्ती योगी के पिता का इलाज गेस्ट्रो विभाग के डॉक्टर विनीत आहूजा की टीम के नेतृत्व में किया जा रहा था. बताया जा रहा है कि रविवार को उनकी अचानक तबीयत फिर से खराब हो गई. इसके बाद से उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था. एम्स लाने से पहले उन्हें पौड़ी-गढ़वाल जिला स्थित जॉलीग्रांट के हिमालयन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. हालत में सुधार नहीं होने के बाद उन्हें दिल्ली लाया गया था.

रिटायर होने के बाद पैतृक गांव में रहने लगे थे

आनंद सिंह बिष्ट 1991 में उत्तर प्रदेश फारेस्ट विभाग से रेंजर के पद पर रिटायर होने के बाद से ही पत्नी सावित्री देवी के साथ पैतृक गांव में रह रहे थे. उस समय योगी बीएससी की पढ़ाई कर रहे थे. बाद में महंत अवेद्यनाथ के संपर्क में आने पर वो उनके साथ चले आये. हालांकि योगी आदित्‍यनाथ का अपने परिवार से लगातार संपर्क बना रहा.

मिलनसार व्यक्ति थे बिष्ट
आनंद सिंह बिष्ट काफी बेहद मिलनसार और सामाजिक व्यक्ति थे, वे सभी से मेलजोल रखते थे. बढ़ती उम्र और खराब तबियत के बावजूद उन्होंने लोगों से मिलना जुलना बनाए रखा था. आनंद सिंह बिष्ट को बीते कुछ दिनों में ही तीन बार अस्पताल में भर्ती होना पड़ा था. योगी आदित्यनाथ को मिलाकर बिष्‍ट के चार बेटे और तीन बेटियां हैं. योगी से बड़े एक भाई और तीन बहनें हैं, वहीं दो भाई उनसे छोटे हैं. भाइयों में से एक शिक्षा विभाग में कार्यरत हैं और एक सेना में हैं. गौरतलब है कि बिष्ट परिवार काफी सादगी से जीवन व्यतीत करता आया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज