अपना शहर चुनें

States

यूपी के पूर्व राज्यपाल और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा का निधन, CM योगी ने जताया शोक

यूपी के पूर्व राज्यपाल और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा का निधन (file photo)
यूपी के पूर्व राज्यपाल और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोतीलाल वोरा का निधन (file photo)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल श्री मोतीलाल वोरा जी के निधन का दुःखद समाचार प्राप्त हुआ.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 21, 2020, 5:17 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल मोतीलाल वोरा (Motilal Vora) का निधन हो गया है.वोरा ने 93 साल की उम्र में दिल्ली के फोर्टिस एस्कॉर्ट अस्पताल में आखिरी सांस ली. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कांग्रेस पार्टी के वरिष्‍ठ नेता मोतीलाल वोरा के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है. उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल श्री मोतीलाल वोरा जी के निधन का दुःखद समाचार प्राप्त हुआ. उन्होंने कहा कि प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें व शोकाकुल परिजनों को यह दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करें. ॐ शांति! इसके अलावा पीएम नरेंद्र मोदी ने भी वोरा को याद किया है.

वहीं कांग्रेस नेता व पूर्व राज्यसभा सांसद प्रमोद तिवारी ने मोतीलाल वोरा के निधन पर दुःख जताया है. तिवारी ने कहा कि वोरा ईमानदारी की प्रतिमूर्ति थे. उनका निधन मेरी व्यक्तिगत क्षति है. मैं उनको विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं. वह कुछ हफ्ते पहले ही कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे और कई दिनों तक एम्स में भर्ती रहने के बाद उन्हें छुट्टी भी मिल गई थी.


इटावा में कुख्यात गैंगस्टर अनीस पासू पर बड़ी कार्रवाई, 6 करोड़ की संपत्ति सीज



बता दें कि मोतीलाल वोरा पुराने दिग्गज राजनीतिकों में शुमार किए जाते रहे और 50 सालों से कांग्रेस के साथ संगठन और सरकारों में जुड़े रहे हैं. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके वोरा का राजनीतिक सफर 1960 के दशक में शुरू हुआ था और शुरुआत में वोरा समाजवादी विचारधारा वाली पार्टी के साथ जुड़े थे, लेकिन उसके बाद 1970 में कांग्रेस में आए और कांग्रेस पार्टी और राज्य सरकार में उच्च पदों पर रहने के बाद राज्यसभा तक भी पहुंचे. वोरा विवादों में भी फंसे लेकिन कुछ कारणों से गांधी परिवार के चहेतों में शुमार रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज