लाइव टीवी

News 18 Chaupal: हर भारतवासी के सहयोग से होगा भव्य राम मंदिर का निर्माण: CM योगी

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 18, 2019, 1:09 PM IST

न्यूज 18 चौपाल (News 18 Chaupal) कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा कि राम मंदिर आंदोलन के समय शिला के लिए एक-एक परिवार से मदद ली गई थी. अब हम राष्ट्र के मंदिर के लिए प्रत्येक परिवार की सहभागिता सुनिश्चित करने की दिशा में कदम आगे बढ़ा रहे हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. 'न्यूज़18 इंडिया चौपाल' में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर निर्माण को लेकर अहम बयान दिया है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम चाहते हैं कि राम मंदिर जनता के पैसे से बने. हमने आह्वान किया है कि हर भारतवासी 11-11 रुपये का योगदान करे, ताकि भव्य राम मंदिर बने. इसमें सरकार का एक पैसा नहीं लगेगा. जन सहभागिता से ये काम होगा.

न्यूज 18 इंडिया के सीनियर एडिटर प्रतीक त्रिवेदी से बातचीत में सीएम योगी ने नागरिकता संशोधन कानून पर अपनी राय रखी. सीएम ने कहा कि ये देश हित में उठाया गया कदम है. जिन लोगों की वोट बैंक की राजनीति समाप्त हो रही है, उनकी बौखलाहट स्वाभाविक है. वे गुमराह करके वातावरण खराब कर रहे हैं. उनके मंसूबे सफल नहीं होंगे.

सीएम योगी ने कहा कि ये कानून किसी व्यक्ति, जाति, मजहब के खिलाफ नहीं है. ये हर व्यक्ति की सामाजिक सुरक्षा की गारंटी है. कांग्रेस या विपक्षियों के फैलाये जा रहे झूठ को बेनकाब किया जाएगा.
सीएम योगी ने कहा कि पीड़ित और प्रताड़ित मानवता को शरण मिलनी चाहिए. हमने मजहब देखकर नहीं किया, पाकिस्तान, बंग्लादेश में जो पीड़ित हैं, उनको शरण तो दी जानी चाहिए. जो भी शरणार्थी है, उसे हर एक को अपनाने की भारत की पुरानी नीति रही है. उसी के तहत ये कानून लाया गया है. जो प्रताड़ित हिंदू, जैन, सिख भारत में शरण लेने दशकों पहले आए हैं ये उनको राहत देने के लिए है.

एनआरसी और सीएए अलग-अलग
असम में एनआरसी के मुद्दे पर सीएम ने कहा कि किसी भी भारतीय को उसकी सुरक्षा की पूरी गारंटी देने की बात असम सरकार पहले ही कह चुकी है. सीएम योगी ने कहा कि एनआरसी अलग है और सीएए अलग है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस और सहयोगियों के झूठ को बेनकाब किया जाएगा. इस कानून का सर्वत्र स्वागत हो रहा है. आने वाले समय में जब जनता के सामने सभी तथ्य आ जाएंगे, तो स्वीकार्यता बढ़ेगी.

उधर कपड़ों से पहचानने के पीएम मोदी के बयान पर सीएम योगी ने कहा कि जो लोग आजादी के बाद वोट बैंक बन कर रह गए थे, वो पिछले 5 साल में कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से लाभान्वित हैं. जिन लोगों ने बड़े तबके को वोट बैंक में सीमित कर दिया था, वो लोग गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं कि ये मुसलमानों के खिलाफ है. ये गलत है. स्पष्ट किया जा चुका है कि ये कानून किसी के खिलाफ नहीं है.हर भारतवासी 11-11 रुपये का योगदान करे
राम मंदिर निर्माण को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारी तैयारी पूरी है. हम चाहते हैं कि ये सरकारी धन की बजाय, आमजन के चंदे से बने, इसके लिए जनता का आह्वान किया है. हम चाहते हैं कि हर भारतवासी 11-11 रुपये का योगदान करे, ताकि भव्य राम मंदिर बने. राम मंदिर आंदोलन के समय शिला के लिए एक-एक परिवार से मदद ली गई थी. अब हम राष्ट्र के मंदिर के लिए प्रत्येक परिवार की सहभागिता सुनिश्चित करने की दिशा में कदम आगे बढ़ा रहे हैं.

उन्होंने कहा कि 4 महीने में मंदिर बनाने के लिए हर प्रकार की तैयारी है. भारत की भावनाओं के अनुरूप भव्य मंदिर बनेगा, इसमें संदेह नहीं होना चाहिए. सीएम ने कहा कि राम राज्य शासन की वह व्यवस्था है, जो सर्व समावेशी हो, सार्वभौमिक और सर्वदेशिक हो. लोक कल्याण की भावनाओं के तहत बिना भेदभाव के हर गरीब को मकान, शौचालय, बिजली, रसोई गैस कनेक्शन, 5 लाख का स्वास्थ्य बीमा कवर, किसान सम्मान निधि की गारंटी मिल जाना, सुरक्षा की गारंटी देना राम राज्य की अवधारणा पर ही है. सीएम ने कहा कि रामराज्य का मतलब धार्मिक राज्य नहीं, बल्कि प्रत्येक तबके के हित में शासन की योजनाएं पहुंचे, ये काम मोदी जी की सरकार ने किया है.

ये भी पढ़ें: -

News 18 Chaupal में सीएम योगी बोले- किसी मजहब के खिलाफ नहीं है CAA

CAA पर हुई हिंसा के बाद UP में 113 गिरफ्तार, 1000 से ज्यादा लोगों के खिलाफ FIR

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 18, 2019, 12:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर