होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

गाजियाबाद श्मशान घाट हादसा: सीएम योगी की बड़ी कार्रवाई, इंजीनियर और ठेकेदार पर NSA लगाने का आदेश

गाजियाबाद श्मशान घाट हादसा: सीएम योगी की बड़ी कार्रवाई, इंजीनियर और ठेकेदार पर NSA लगाने का आदेश

रामभक्तों पर गोली चलाने वाले अब बोलने लगे राम हमारे (File photo)

रामभक्तों पर गोली चलाने वाले अब बोलने लगे राम हमारे (File photo)

सीएम (CM) ने मृतक परिवारों को 10-10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता और इनमें आवासहीन परिवारों को आवासीय सुविधा मुहैया करने के भी निर्देश दिए हैं.

लखनऊ. दिल्ली से सटे गाजियाबाद (Ghaziabad) के मुरादनगर (Muradnagar) में रविवार को श्मशान घाट (Cremation Ground Tragedy) के गलियारे की छत गिरने से 25 लोगों की मौत हो गई थी. अब इस मामले में मंगलवार को सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए हैं. आरोपी इंजीनियर और ठेकेदार के खिलाफ रासुका (NSA) लगाने के आदेश दिए गए हैं. वहीं, पूरे नुकसान की वसूली दोषी इंजीनियर और ठेकेदार से करने को भी कहा गया है. उन्होंने ठेकेदार को ब्लैक लिस्ट करने का भी आदेश अफसरों को दिया है. सीएम ने मृतक परिवारों को 10-10 लाख की आर्थिक सहायता और इनमें आवासहीन परिवारों को आवासीय सुविधा मुहैया कराने के निर्देश भी जारी किए हैं. मुख्यमंत्री ने गाजियाबाद के डीएम और कमिश्नर को नोटिस जारी कर चूक होने की वजह पूछी है.

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि पुलिस की स्पेशल टीम ने ठेकेदार अजय त्यागी को गैर जनपद से गिरफ्तार किया है. पुलिस आरोपी को लेकर देर रात गाजियाबाद पहुंची. आरोपी को मंगलवार को गाजियाबाद की अदालत में पेश किया जाएगा. इससे पहले सोमवार की सुबह मुरादनगर नगर पालिका की निहारिका सिंह, जूनियर इंजीनियर चंद्रपाल और सुपरवाइजर आशीष को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया, जहां से सभी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया.

ईओ निहारिका सिंह सस्पेंड
उधर मामले में कार्रवाई करते हुए शासन ने ईओ निहारिका सिंह को निलंबित कर दिया. जेई चंद्रपाल के खिलाफ भी कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं. साथ ही निर्माण की थर्ड पार्टी जांच कर क्लीनचिट देने वाले पीडब्लूडी के अधिशासी अभियंता व अवर अभियंता के खिलाफ भी विभागीय कार्रवाई की सिफारिश की गई है. प्रमुख सचिव नगर विकास दीपक कुमार ने बताया कि ईओ निहारिका सिंह को घटिया निर्माण कार्य के लिए निरीक्षण में ढिलाई बरतने के लिए प्रथम दृष्टया जिम्मेदार पाया गया है.

मंडलायुक्त व डीएम पर गिर सकती है गाज
बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर नाराजगी जताई है. कमिश्नर मेरठ अनीता सी मेश्राम और गाजियाबाद डीएम अजय शंकर पांडेय से स्पष्टीकरण मांगा गया है. कमिश्नर व डीएम समेत कई अफसरों पर गाज गिर सकती है.

Tags: BJP, CM Yogi, For dgp up, Ghaziabad News, Up crime news, UP police, Yogi adityanath, Yogi government

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर