Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    बापू की जयंती पर CM योगी ने चरखा चलाकर दी श्रद्धांजलि, कहा- सम्पूर्ण विश्व को मिली प्रेरणा

    बापू की जयंती पर CM योगी ने चरखा चलाकर दी श्रद्धांजलि
    बापू की जयंती पर CM योगी ने चरखा चलाकर दी श्रद्धांजलि

    बापू की जयंती पर सीएम योगी (CM Yogi) ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का मानना था कि साफ-सफाई, ईश्वर की आराधना के समान है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 2, 2020, 11:18 AM IST
    • Share this:
    लखनऊ. Gandhi Jayanti 2020: आज पूरा देश महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की 151वीं जयंती मना रहा है. मोहनदास करम चंद गांधी, भारतीय स्वाधीनता आंदोलन के अगुवा थे. यूपी की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने गांधी जयंती पर हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए. इस मौके पर गांधी जी को श्रद्धांजलि देने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चरखा भी चलाया और खादी अपनाने का संदेश दिया.

    महात्मा गांधी की 151वीं जयं​ती पर सीएम योगी ने ट्वीट करके कहा कि आधुनिक विश्व को अहिंसा का मार्ग दिखाने वाले, महान समाज सुधारक, अंत्योदय से समाजोदय व स्वदेशी से स्वावलंबन दर्शन के प्रणेता, महामानव राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी को उनकी जयंती पर कोटिशः नमन. बापू का सम्पूर्ण जीवन मानवता का संदेश है. सम्पूर्ण विश्व उससे प्रेरणा प्राप्त कर रहा है.
    बापू की जयंती पर सीएम योगी ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का मानना था कि साफ-सफाई, ईश्वर की आराधना के समान है. इसलिए उन्होंने लोगों को स्वच्छता अपनाने की शिक्षा दी. वर्तमान सरकार गांधी जी के स्वच्छ भारत के स्वप्न को साकार करने के लिए निरन्तर प्रयास कर रही है.वहीं, पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री की भी आज जयंती है. इस मौके पर सीएम ने कहा, ‘जय जवान जय किसान’ के ओजस्वी उद्घोष से राष्ट्रीय जीवन में नव-ऊर्जा का संचार करने वाले, हरित क्रांति व श्वेत क्रांति के शिल्पकार, पूर्व प्रधानमंत्री, भारत रत्न श्री लाल बहादुर शास्त्री जी को उनकी जयंती पर कोटिशः नमन. सादगी,शुचिता व त्याग से परिपूर्ण आपका जीवन हमारा पथ प्रदर्शक है.

    आपको बता दें कि सत्याग्रह और अहिंसा के सिद्धांतों पर चलकर बापू जी ने भारत को आजादी (Freedom) दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. उनके इन सिद्धांतों ने पूरी दुनिया में लोगों को नागरिक अधिकारों और स्वतंत्रता आन्दोलन के लिए प्रेरित किया था.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज