इंसेफेलाइटिस से बचाव के लिए CM योगी ने शुरू किया टीकाकरण अभियान
Lucknow News in Hindi

इंसेफेलाइटिस से बचाव के लिए CM योगी ने शुरू किया टीकाकरण अभियान
सीएम योगी आदित्यनाथ (File Photo)

सीएम ने बताया कि पिछले डेढ़ साल में प्रदेश सरकार ने इंसेफेलाइटिस से बचाव के लिए 38 जनपदों में जो अभियान चलाया, उसका अब असर भी दिखने लगा है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को मीजल्स-रुबेला बीमारी से बचाव के लिए टीकाकरण अभियान की शुरुआत की. इस मौके पर सीएम ने वीडियो संदेश और संदेश पुस्तिका का विमोचन भी किया और मीजल्स-रुबेला टीकाकरण बूथ का उद्घाटन भी किया. इस अभियान के अंतर्गत प्रदेश में नौ माह से 15 साल तक के करीब 8 करोड़ बच्चों का टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है.

यह भी पढ़ें-अयोध्या में बोले सीएम योगी, आपसी सौहार्द से हो राम मंदिर का निर्माण

सीएम योगी ने 5, कालीदास मार्ग स्थित अपने सरकारी आवास पर टीकाकरण अभियान की शुरुआत करते हुए कहा कि इस अभियान में शिक्षा विभाग की भी महत्वपूर्ण भूमिका है. उन्होंने कहा कि यह अभियान एक टीम वर्क है, जिसमें स्वास्थ्य विभाग, परिवार कल्याण विभाग, शिक्षा विभाग, नगर विकास विभाग समेत कई विभाग जुड़े हैं.



यह भी पढ़ें-अगर मेरी हत्या हो जाए तो डीएम, एसपी और सीएम को आरोपी बनाना: सपा नेता



सीएम ने बताया कि पिछले डेढ़ साल में प्रदेश सरकार ने इंसेफेलाइटिस से बचाव के लिए 38 जनपदों में जो अभियान चलाया, उसका अब असर भी दिखने लगा है. बकौल योगी आदित्यनाथ, पहले हर साल अगस्त महीने में सिर्फ गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ही इंसेफेलाइटिस से प्रभावित 500 से 600 बच्चे भर्ती हुआ करते थे, लेकिन इंसेफेलाइटिस के खिलाफ अभियान के बाद अगस्त में वहां 86 बच्चे भर्ती हुए है, जिनमें से 6 की मृत्यु हुई है. उनका प्रयास है कि भविष्य में इससे एक भी मासूम की मौत न हो.

यह भी पढ़ें-सीएम योगी ने की आडवाणी से मुलाकात, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती भी साथ

कार्यक्रम में मौजूद परिवार कल्याण मंत्री डॉ. रीता बहुगुणा जोशी ने बताया कि मीजल्स-रुबेला वैक्सीन का एक अतिरिक्त डोज देने से जानलेवा साबित होने वाली मीजल्स-रुबेला बीमारी से बच्चों को बचाया जा सकेग और टीकाकरण कार्यक्रम से प्रदेश में 5 वर्ष तक के बच्चों की मृत्यु दर में कमी आएगी. इसके अलावा गर्भवती महिलाओं में रुबेला के संक्रमण से होने वाली गर्भपात, शिशु में अंधेपन, बहरेपन जैसी दिव्यांगता और जन्मजात हृदय रोग के मामलों में कमी आएगी.

(रिपोर्ट-शैलेश, लखनऊ)
First published: November 26, 2018, 1:49 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading