Home /News /uttar-pradesh /

भ्रष्टाचार पर CM योगी का बड़ा एक्शन, वाणिज्‍य कर के 4 अफसर सस्‍पेंड, रामपुर के DSP पर गिरी गाज

भ्रष्टाचार पर CM योगी का बड़ा एक्शन, वाणिज्‍य कर के 4 अफसर सस्‍पेंड, रामपुर के DSP पर गिरी गाज

सीएम योगी के आदेश के बाद निलंबन पर मुहर लगी है. (फाइल फोटो)

सीएम योगी के आदेश के बाद निलंबन पर मुहर लगी है. (फाइल फोटो)

Attack On Corruption: रामपुर में क्षेत्राधिकारी (CO) के पद पर तैनाती के दौरान उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे. वर्तमान में वह पीटीसी सीतापुर में डीएसपी के पद पर तैनात हैं. रामपुर में सीओ नगर के पद पर तैनाती के दौरान विद्या किशोर का वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें उनके द्वारा कथित तौर पर 5 लाख रुपये रिश्वत मांगे जाने की बात सामने आई थी. इसके बाद उन्हें 28 अक्तूबर को हटा दिया गया था.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी के आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की भ्रष्टाचार (Corruption) के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति जारी है. इसी कड़ी में गौतमबुद्धनगर के वाणिज्य कर विभाग में भ्रष्टाचार का मामला सामने आने के बाद विशेष अनुसंधान शाखा (SIB) में तैनात रहने के दौरान एडिशनल कमिश्नर ग्रेड-2 धर्मेंद्र सिंह, ज्वाइंट कमिश्नर दिनेश दुबे, डिप्टी कमिश्नर मिथिलेश मिश्रा और असिस्टेंट कमिश्नर सोनिया श्रीवास्तव को निलंबित किया गया है. सीएम योगी के आदेश के बाद निलंबन पर मुहर लगी है.

बता दें कि सीएम योगी ने इस पूरे मामले की जांच का आदेश दिया था. जांच टीम गठित की गई. एडिशनल कमिश्नर सीबी सिंह ने पूरे मामले की जांच की. जांच टीम ने अपनी रिपोर्ट सीएम को सौंपी है. रिपोर्ट में की गई अनुशंसा के आधार पर कार्रवाई की गई है. वहीं, इस मामले में जांच का आदेश देने वाले अधिकारी ने खुद के निलंबन को अब गलत बताया है. भ्रष्टाचार के विरुद्ध जीरो टॉलरेंस की नीति के तहत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर पुलिस उपाधीक्षक (DSP) विद्या किशोर को गुरुवार को निलंबित कर दिया गया.

कानपुर देहात: स्वास्थ्य कर्मी की गोद में थी उसकी बेटी, दारोगा ने बरसाई ताबड़तोड़ लाठियां

रामपुर में क्षेत्राधिकारी (CO) के पद पर तैनाती के दौरान उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे. वर्तमान में वह पीटीसी सीतापुर में डीएसपी के पद पर तैनात हैं. रामपुर में सीओ नगर के पद पर तैनाती के दौरान विद्या किशोर का वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें उनके द्वारा कथित तौर पर 5 लाख रुपये रिश्वत मांगे जाने की बात सामने आई थी. इसके बाद उन्हें 28 अक्तूबर को हटा दिया गया था.

एसएसपी के खिलाफ FIR दर्ज करने की मांगी अनुमति
उधर, उत्तर प्रदेश सतर्कता अधिष्ठान (विजिलेंस) ने शासन से प्रयागराज के तत्कालीन एसएसपी अभिषेक दीक्षित के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की अनुमति मांगी है. भ्रष्टाचार के आरोप में निलंबित चल रहे दीक्षित को भ्रष्टाचार समेत अन्य मामलों में दोषी पाया गया है. दीक्षित तमिलनाडु कैडर के आईपीएस हैं और प्रति नियुक्ति पर यूपी में तैनात हैं.

Tags: Bjp government, CM Yogi, Cm yogi on corruption, Lucknow news, UP police, Yogi government

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर