प्रियंका गांधी बोलीं- ये इंतहा है भ्रष्टाचार की, यूपी सरकार अनामिका शुक्ला के घर जाकर मांगे माफी
Gonda News in Hindi

प्रियंका गांधी बोलीं- ये इंतहा है भ्रष्टाचार की, यूपी सरकार अनामिका शुक्ला के घर जाकर मांगे माफी
प्रियंका गांधी के निर्देश पर कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने जानी दलितों की पीड़ा. (file photo)

अनामिका शुक्ला प्रकरण में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने योगी सरकार (Yogi Government) पर हमला किया है. उन्होंने कहा कि ये भ्रष्टाचार की इंतहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 10, 2020, 11:50 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय में अनामिका शुक्ला (Anamka Shukla) नाम पर कई जगह नौकरी करने और सरकार से तनख्वाह (Salary) हासिल करने के मामले में सियासत तेज हो गई है. एक तरफ गोंडा (Gonda) में असली अनामिका शुक्ला बेसिक शिक्षा अधिकारी के दफ्तर पहुंची और बताया कि उसके ही कागजात पर ये सब फर्जीवाड़ा हुआ है, वह निर्दोष है और बेरोजगार है. अनामिका ने इस संबंध में एफआईआर की भी एप्लीकेशन दी है. उधर अनामिका शुक्ला प्रकरण में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने योगी सरकार (Yogi Government) पर हमला किया है. उन्होंने कहा कि ये भ्रष्टाचार की इंतहा है. यूपी सरकार को अनामिका शुक्ला के घर जाकर उनके पूरे परिवार से माफी मांगनी चाहिए. इसके साथ ही प्रियंका गांधी ने अनामिका को मुआवजा देने, उन्हें सरकारी नौकरी देने की भी मांग रखी है.

प्रियंका ने रखी ये मांग

प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया है, “ये इंतहा है भ्रष्टाचार की. यूपी सरकार को अनामिका शुक्ला के घर जाकर उनके पूरे परिवार से माफी मांगनी चाहिए. गरीबी की पीड़ा झेल रही अनामिका शुक्ला को पता भी नहीं था उसके नाम पर ये चल रहा है. यूपी सरकार और उनके शिक्षा विभाग की नाक के नीचे चल रही लूट की व्यवस्था ने एक साधारण महिला को अपना शिकार बनाया. ये चौपट राज की हद है. अनामिका को न्याय मिलना चाहिए.1. उन्हें मानहानि का मुआवजा दिया जाए. 2. उन्हें सरकारी नौकरी दी जाए. 3. पूरे परिवार को तुरंत सुरक्षा व्यवस्था दी जाए.



दरअसल अनामिका शुक्ला के दस्तावेज पर प्रदेश के कई जनपदों में कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में कई लोगों की नौकरी चल रही थी. पता चला है कि अनामिका शुक्ला असल में गोंडा जिले की ही रहने वाली है. अनामिका शुक्ला ने गोंडा में ही पढ़ाई पूरी की और यहीं पर उसकी शादी भी हुई. वह अपने पति और बच्चे के साथ रह रही है.



कस्तूरबा विद्यालय में कभी नौकरी नहीं की

अचानक अपने नाम पर फर्जीवाड़ा सामने आने के बाद और इससे जुड़ी तमाम खबरें आनी शुरू हुईं तो अनामिका शुक्ला परेशान होकर बीएसए दफ्तर पहुंची. यहां वह अपने सारे अभिलेख लेकर बीएसए इंद्रजीत प्रजापति से मिलीं. न्यूज 18 से बातचीत में अनामिका शुक्ला ने आपबीती बताई. उन्होंने कहा कि 2017 में उन्होंने कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय में साइंस टीचर के लिए सुल्तानपुर, जौनपुर, बस्ती, मिर्जापुर और लखनऊ में आवेदन किया था. लेकिन व्यक्तिगत कारणों से वह काउंसिलिंग के लिए उपस्थित नहीं हो सकी थीं. उन्होंने कभी भी कहीं भी कस्तूरबा आवासीय बालिका विद्यालय में नौकरी नहीं की है. न ही वह इस समय नौकरी कर रही हूं.

पूरी रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी: बीएसए

अनामिका शुक्ला ने कहा कि मैं निर्दोष हूं और मेरे अभिलेखों का गलत प्रयोग कर कई जनपदों में नौकरी ले ली गई है. अनामिका अपने पति और बच्चे के साथ पहुंचीं और एक-एक कर अपने अभिलेख प्रस्तुत किए. वहीं बीएसए इंद्रजीत प्रजापति ने न्यूज 18 से बताया कि अब इस मामले का पटाक्षेप हो गया है. अनामिका गोंडा की ही है लेकिन उसके शैक्षिक प्रमाण पत्रों का दुरुपयोग कर तमाम लोगो ने फर्जी नौकरी पा ली. पूरी रिपोर्ट शासन को भेजी जाएगी.

ये भी पढ़ें:

गोंडा में सामने आईं असली अनामिका शुक्ला, किए चौंकाने वाले खुलासे

यूपी में 21 सीनियर आईएएस अफसर बनेंगे अपर मुख्य सचिव, देखें पूरी लिस्ट

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading