लाइव टीवी

महिलाओं के खिलाफ अपराध पर प्रियंका गांधी ने सीएम योगी पर साधा निशाना, किया ये Tweet

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 22, 2019, 2:20 PM IST
महिलाओं के खिलाफ अपराध पर प्रियंका गांधी ने सीएम योगी पर साधा निशाना, किया ये Tweet
यूपी में महिलाओं के खिलाफ अपराधों को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सीएम योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है.

बता दें नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (National Crime Record Bureau) (एनसीआरबी) द्वारा जारी 2017 के क्राइम डाटा (Crime Data) के मुताबिक महिलाओं समेत कई तरह के अपराध में उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) पूरे देश में टॉप पर है.

  • Share this:
लखनऊ. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने यूपी में महिलाओं पर हो रहे अपराध (Crime Against Women) के लिए योगी सरकार (Yogi Government) पर निशाना साधा है. प्रियंका गांधी ने कहा कि पूरे देश में महिलाओं पर सर्वाधिक अपराध यूपी में हो रहे हैं. एक साल में 56,000 से ज़्यादा और इसमें वो घटनाएं शामिल भी नहीं है, जिनकी रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई. प्रियंका ने पूछा है कि क्या ये आंकड़ा इतना भी गंभीर नहीं कि मुख्यमंत्री जी इसका संज्ञान लेते? ‘बेटी बचाओ अभियान’ के कार्यक्रमों को लेकर प्रदेश भर में घूमते हुए उन्हें शर्म आनी चाहिए.

अशफ़ाक उल्ला खान और राम प्रसाद बिस्मिल को किया याद

इससे पहले प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, "अशफाक उल्ला खान और राम प्रसाद बिस्मिल दोनों की कहानी आपने सुनी होगी और आज के समय में इस कहानी को कहना और जरूरी है. आज अशफ़ाक उल्ला खान का जन्मदिन है. अशफ़ाक और बिस्मिल शाहजहांपुर के रहने वाले थे. दोनों ये जानते थे कि उनके धर्म अलग-अलग हैं. दोनों ये समझते थे कि उनके कई सारे रीति-रिवाज अलग-अलग हैं. लेकिन दोनों ने साथ मिलकर देश के लिए क़ुर्बानी दी और इंसानियत का पाठ पढ़ाया. अशफ़ाक-बिस्मिल की एकता को सलाम और दोनों स्वतंत्रता सेनानियों को शत-शत नमन.

हत्या में कमी लेकिन हर अपराध में टॉप पर यूपी, NCRB ने जारी किया डाटा

बता दें नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (National Crime Record Bureau) (एनसीआरबी) द्वारा जारी 2017 के क्राइम डाटा (Crime Data) के मुताबिक महिलाओं समेत कई तरह के अपराध में उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) पूरे देश में टॉप पर है. यूपी में महिला अपराधों में 2016 में 49262 तो 2017 में 56011 एफआईआर दर्ज की गई. डाटा के मुताबिक पूरे देश में महिला उत्पीड़न के 14 फीसदी मामले अकेले यूपी से हैं. दलित उत्पीड़न के मामलों में भी यूपी देश में सबसे ऊपर है. 2016 में 10426 तो 2017 में 11444 मामले एससी-एसटी एक्ट के तहत दर्ज हुए. केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन आने वाला एनसीआरबी 1954 से लगातार अपराध के आंकड़े जारी कर रहा है.

priyanka tweet
प्रियंका गांधी का ट्वीट


हत्या के मामलों में कमी
Loading...

हालांकि ताजा आंकड़ों के मुताबिक हत्या के मामलों में यूपी में कमी आई है. 2016 में 4889 तो 2017 में 4324 हत्या के मामले दर्ज हुए. पूरे देश में अपहरण के 20.8 फीसदी मामले सिर्फ यूपी से हैं. साइबर क्राईम में भी यूपी टॉप पर है. 2016 में 2639 तो 2017 में 4971 साइबर क्राईम के मामले दर्ज हुए.

priyanka tweet1
प्रियंका गांधी का ट्वीट


अपहरण के मामले में भी यूपी अव्वल
देश में दर्ज हुए अपहरण के कुल मामलों में भी यूपी अव्वल रहा. 20.8 फीसदी अपहरण के मामले केवल यूपी के हैं. सूबे में 2016 में अपहरण के 15,898 केस दर्ज हुए थे. 2017 में यह आंकड़ा 4023 से बढ़कर 19,921 हो गया.

बच्चों के खिलाफ अपराध भी बढ़ा
बच्चों के खिलाफ अपराध के मामले में भी उत्तर प्रदेश पहले पायदान पर है. यूपी में 2016 की अपेक्षा 19 फीसदी ज्यादा ऐसे मामले दर्ज हुए. यूपी में 19145, मप्र में 19038, महाराष्ट्र में 16918, दिल्ली में 7852 और छत्तीसगढ़ में 6518 केस दर्ज हुए.

आईपीसी केस में भी यूपी टॉप पर
आईपीसी के तहत देश में कुल 30,62,579 केस दर्ज हुए, जबकि 2016 में यह आंकड़ा 29,75,711 था. इस हिसाब से 86,868 केस ज्यादा दर्ज हुए हैं. इस मामले में भी यूपी सबसे ऊपर है, जहां 3,10,084 केस दर्ज हुए जो देश का 10.1 फीसदी है.

ये भी पढ़ें:

हत्या में कमी लेकिन हर अपराध में टॉप पर यूपी, NCRB ने जारी किया डाटा

यूपी विधानसभा उपचुनाव: लखनऊ कैंट में कम वोटिंग से बढ़ाईं बीजेपी की धड़कनें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 22, 2019, 2:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...