Home /News /uttar-pradesh /

congress leader nav prabhat claim somewhere some party candidates helped bjp candidates nodbk

कांग्रेस नेता का दावा- कहीं-कहीं पार्टी के कुछ उम्मीदवारों ने BJP प्रत्याशियों की मदद की

उन्होंने कहा कि औपचारिक समीक्षा बैठक नहीं, बल्कि गहन समीक्षा समय की जरूरत है.

उन्होंने कहा कि औपचारिक समीक्षा बैठक नहीं, बल्कि गहन समीक्षा समय की जरूरत है.

कांग्रेस नेता नव प्रभात (Congress Leader Nav Prabhat) ने कहा कि विधानसभा चुनाव में हार के लिए किसी एक व्यक्ति को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता. कहीं-कहीं पार्टी के कुछ उम्मीदवारों ने भाजपा उम्मीदवारों की मदद की. लेकिन इसके बाद भी गुटबाजी हावी नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि औपचारिक समीक्षा बैठक नहीं, बल्कि गहन समीक्षा समय की जरूरत है.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Elections) में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस पार्टी (Congress Party) की अंतर्कलह अब सामने आने लगी है. पूर्व राज्य मंत्री और कांग्रेस नेता नव प्रभात (Congress Leader Nav Prabhat) ने एक बयान देकर सबको चौंका दिया है. उन्होंने अपने पार्टी नेताओं पर ही आरोप लगाते हुए कहा है कि कहीं- कहीं पार्टी के कुछ उम्मीदवारों ने भाजपा प्रत्याशियों की मदद की है. इस वजह से पार्टी को हार का सामना करना पड़ा है.

कांग्रेस नेता नव प्रभात ने कहा कि विधानसभा चुनाव में हार के लिए किसी एक व्यक्ति को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता. कहीं-कहीं पार्टी के कुछ उम्मीदवारों ने भाजपा उम्मीदवारों की मदद की. लेकिन इसके बाद भी गुटबाजी हावी नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि औपचारिक समीक्षा बैठक नहीं, बल्कि गहन समीक्षा समय की जरूरत है. दरअसल, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को करारी हार का सामना करना पड़ा है. कांग्रेस पार्टी के महज दो ही विधायक जीत पाएं हैं. खास बात यह है कि कांग्रेस का परफॉर्मेंस 2017 से काफी खराब रहा है.

कार्यकर्ताओं में उनका प्रभाव कम ही रहा
वहीं, पार्टी की हार के बाद यूपी प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. अजय कुमार लल्लू ने पार्टी नेतृत्व को धन्यवाद देते हुए कहा कि मेरे जैसे सामान्य कार्यकर्ता पर भरोसा जताने के लिए शीर्ष नेतृत्व का आभार. उन्होंने आगे कहा कि वो कार्यकर्ता के तौर पर आम आदमी के अधिकारों की लड़ाई लड़ते रहेंगे. लल्लू की असफलता का एक कारण उनकी अपनी टीम का न होना था. वह केवल एक विधायक थे और उनके पास संगठन चलाने का कोई अनुभव नहीं था. न ही कोई टीम थी. उन्होंने अपनी टीम बनाने की कोशिश की लेकिन इसमें वह सफल नहीं रहे. नेतृत्व क्षमता के अभाव के चलते पार्टी संगठन व कार्यकर्ताओं में उनका प्रभाव कम ही रहा.

Tags: Congress, Lucknow news, Uttar Pradesh Assembly Election Result 2022, Uttar pradesh news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर