संजय सिंह जैसे लोगों ने राजनीति को किया कलंकित: MLC दीपक सिंह

साल 1998 में एक बार फिर संजय सिंह ने कांग्रेस का दामन छोड़कर बीजेपी के साथ हो लिए. वर्ष 1998 में हुए लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने उन्हें अमेठी से मैदान में उतारा था. इस बार उन्होंने कांग्रेस के कप्तान सतीश शर्मा को हराकर जीत का स्वाद चखा और पहली बार लोकसभा पहुंचे.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 30, 2019, 4:30 PM IST
संजय सिंह जैसे लोगों ने राजनीति को किया कलंकित: MLC दीपक सिंह
संजय सिंह जैसे लोगों ने राजनीति को किया कलंकित
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 30, 2019, 4:30 PM IST
कांग्रेस और गांधी परिवार के करीबी रहे वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने मंगलवार को राज्यसभा और पार्टी से इस्तीफा देकर बीजेपी का दामन थामने का ऐलान किया है. इसी क्रम में कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह ने संजय सिंह पर ट्वीट करके निशाना साधा. दीपक सिंह ने कहा, इतिहास को मान सिंह और राजनीति को संजय सिंह जैसे लोगों ने कलंकित किया.' उन्होंने कहा कि संजय सिंह जी अगला पड़ाव कौन सी पार्टी होगी..?

संजय सिंह ने कांग्रेस को बिना नेतृत्व वाली पार्टी करार देते हुए कहा कि आज पूरा देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ खड़ा है और अब वह भी उनके साथ हैं. संजय सिंह ने बताया कि वह बुधवार (31 जुलाई) को बीजेपी में शामिल होंगे. गौरतलब है कि यह पहला मौका नहीं है जब संजय सिंह कांग्रेस का दामन छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए हैं. अमेठी राजघराने से जुड़े संजय सिंह गांधी परिवार से नजदीकियों के बाद सुर्ख़ियों में आए थे.


Loading...

वर्ष 1980 में जब संजय गांधी ने अमेठी से लोकसभा चुनाव लड़ा तो संजय सिंह ने उनका समर्थन किया था, लेकिन साल 1988 में वह जनता पार्टी से जुड़ गए. वर्ष 1989 के लोकसभा इलेक्शन में उन्होंने अमेठी से राजीव गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ा, लेकिन उन्हें करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा.

वर्ष 1998 में भी बीजेपी में हुए थे शामिल
साल 1998 में एक बार फिर संजय सिंह ने कांग्रेस का दामन छोड़कर बीजेपी के साथ हो लिए. वर्ष 1998 में हुए लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने उन्हें अमेठी से मैदान में उतारा था. इस बार उन्होंने कांग्रेस के कप्तान सतीश शर्मा को हराकर जीत का स्वाद चखा और पहली बार लोकसभा पहुंचे. इसके बाद 1999 के लोकसभा चुनाव में एक बार फिर बीजेपी ने उन्हें अमेठी से मैदान में उतारा. इस बार उनके सामने सोनिया गांधी मैदान में थीं. सोनिया ने उन्हें बड़े अंतर से हराया. वर्ष 2003 में एक बार फिर संजय सिंह ने कांग्रेस में वापसी की. कांग्रेस ने साल 2009 के लोकसभा चुनाव में उन्हें सुलतानपुर लोकसभा सीट से टिकट दिया, जहां से जीतकर वह दूसरी बार लोकसभा पहुंचे.

विवादों में घिरे रहे हैं संजय सिंह
पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजवी गांधी के करीबी दोस्त रहे संजय सिंह का विवादों से भी गहरा नाता रहा है. 28 जुलाई 1998 को लखनऊ के केडी सिंह बाबू स्टेडियम के बाहर बैडमिंटन खिलाड़ी सैयद मोदी की गोलीमार कर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में भी संजय सिंह और उनकी दूसरी पत्नी अमिता मोदी को आरोपी बनाया गया था. हालांकि, बाद में दोनों का नाम केस से हटा दिया गया. कहा जाता है कि सैयद मोदी की पत्नी अमिता मोदी और संजय गांधी के बीच प्रेम प्रसंग की वजह से ही इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया था. लेकिन, आज तक इस हत्याकांड से पर्दा नहीं उठ सका है.

ये भी पढ़ें:

कुलदीप सिंह सेंगर BJP से पहले ही किये जा चुके हैं निलंबित: स्वतंत्र देव सिंह

सपा सांसद आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी पर पुलिस की रेड

कांग्रेस सांसद संजय सिंह ने राज्यसभा से दिया इस्तीफा, BJP में कल होंगे शामिल
First published: July 30, 2019, 4:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...