Home /News /uttar-pradesh /

मिशन 2019: यूपी फतेह के लिए राहुल गांधी ऐसे बिछा रहे बिसात

मिशन 2019: यूपी फतेह के लिए राहुल गांधी ऐसे बिछा रहे बिसात

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फाइल फोटो)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फाइल फोटो)

संगठन में फेरबदल के तहत यूपी को नया प्रदेश अध्यक्ष मिलेगा, साथ ही उसकी सहायता के लिए 4 कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष भी दिए जाएंगे. यही नहीं कांग्रेस-शासित प्रदेशों से भी मंत्रियों में भी सीटें बांटी जाएंगीं, ताकि हर व्यक्ति तक कांग्रेस नेतृत्व की आवाज पहुंच सके.

अधिक पढ़ें ...
    उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन से करीब-करीब बाहर हो चुकी कांग्रेस लोकसभा चुनाव अकेले लड़ने की तैयारी में जुट गई है. पार्टी इसके लिए संगठन को मजबूत और धारदार छवि देने की कोशिश में है. माना जा रहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जल्द ही संगठन का पुनर्गठन करेंगे. इसमें यूपी को नया प्रदेश अध्यक्ष मिलने के साथ ही उसकी सहायता के लिए कार्यकारी अध्यक्षों की भी टीम बनने पर विचार चल रहा है. ये कार्यकारी अध्यक्ष प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों में आने वाली लोकसभा सीटों का दायित्व संभालेंगे. खास बात ये है कि पदाधिकारियों की नियुक्ति में जातीय समीकरणों का विशेष ध्यान रखा जाएगा.

    नोएडा पुलिस का कंपनियों को नोटिस, सार्वजनिक जगहों पर नमाज पढ़ते न दिखें कर्मचारी

    दरअसल, तीन राज्यों में मिली जीत से उत्साहित कांग्रेस को लग रहा है कि वह यूपी में अपनी खोई जमीन वापस पाने का ये सही मौका है. कांग्रेस अब उत्तर प्रदेश में 2019 में सियासी जमीन तैयार करने में जुट गई है.

    पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार संगठन में फेरबदल के तहत यूपी को नया प्रदेश अध्यक्ष मिलेगा, साथ ही उसकी सहायता के लिए 4 कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष भी दिए जाएंगे.

    इस रिटायर्ड आईएएस ने छत्तीसगढ़ में लिखी कांग्रेस की विजय स्क्रिप्ट

    सूत्रों के अनुसार, उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से हर कार्यकारी अध्यक्ष को 20 सीटों का प्रभारी बनाया जाएगा. यही नहीं कांग्रेस-शासित प्रदेशों से भी मंत्रियों में भी सीटें बांटी जाएंगीं, ताकि हर व्यक्ति तक कांग्रेस नेतृत्व की सोच और बीजेपी के वादो की पोल खोली जा सके.

    खबर है कि कांग्रेस इस फेरबदल में किसी ब्राह्मण चेहरे को प्रदेश संगठन का नेतृत्व सौंप सकती है. वहीं कार्यकारी अध्यक्षों में भी सवर्ण के साथ दलित और ओबीसी व मुस्लिम को तरजीह दी जाएगी. वहीं छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को विराट जीत दिलाने वाले राज्यसभा सांसद पीएल पुनिया को भी यूपी में अहम जिम्मेदारी दिए जाने की चर्चाएं तेज हैं.

    विधानसभा चुनावों में तगड़ी जीत के बाद यूपी में सपा और बसपा की मजबूरी बनी कांग्रेस!

    उधर संगठन में फेरबदल पर कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता अंशू अवस्थी कहते हैं कि प्रदेश अध्यक्ष हमारे राजबब्बर जी ही हैं और कांग्रेस का हर कार्यकर्ता प्रदेश में उनके नेतृत्व में पार्टी को मजबूत करने में लगा हुआ है. उन्होंने कहा कि चूंकि उत्तर प्रदेश क्षेत्रफल और लोकसभा सीटों के लिहाजा से काफी बड़ा है इसलिए कार्यकारी अध्यक्षों की व्यवस्था पर राष्ट्रीय नेतृत्व ने पहले भी विचार किया था.

    इसके तहत उत्तर प्रदेश युवा कांग्रेस को तीन जोनों में बांटा जा चुका है. मध्य, पश्चिम और पूर्वांचल. महिला कांग्रेस भी तीन जोन में बांटी गई है. राष्ट्रीय नेतृत्व की मंशा है कि नेतृत्व ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंच सके. इसलिए इस पर विचार जरूर चल रहा है लेकिन अंतिम फैसला कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ही लेंगे.

    यूपी में 'शून्य' के बाद बसपा को राज्यों के चुनाव में भी झटका, घट गया है जनाधार

    उन्होंने कहा कि जनवरी से किसान कांग्रेस के नेतृत्व में यूपी में बूथ वार, जनपद वार और मंडलवार पदयात्राएं होंगीं. इसमें किसान कांग्रेस के साथ सभी कांग्रेसजन शामिल होंगे. इन पदयात्रों के बीच में कई जगह बड़ी रैली होंगीं, जिसमें राहुल गांधी भी शामिल होंगे.

    ये भी पढ़ें: 

    ग्रेटर नोएडा: कार में आग लगने से युवक की जिंदा जलकर मौत

    नोएडा: पुलिस की वर्दी में लूटपाट करने वाले 3 बदमाश गिरफ्तार

    जौनपुर: अभिनेता नसीरुद्दीन शाह के खिलाफ परिवाद दाखिल

    बलरामपुर में बदमाशों ने युवक को मारी गोली, मौत

    अटल जी का मानना था कि सिद्धांतहीन राजनीति मौत का फंदा है: सीएम योगी

    Tags: All India Congress Committee, Lucknow news, Rahul gandhi, Up news in hindi, Uttarpradesh news, लखनऊ

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर