अपना शहर चुनें

States

मुरादनगर हादसे में ठेकेदार, इंजीनियर से होगी नुकसान की भरपाई, UP के सभी सरकारी भवनों की होगी जांच

गाजियाबाद के मुरादनगर में रविवार को श्मशान घाट के गलियारे की छत गिरने से 25 लोगों की मौत हो गई थी. (फाइल)
गाजियाबाद के मुरादनगर में रविवार को श्मशान घाट के गलियारे की छत गिरने से 25 लोगों की मौत हो गई थी. (फाइल)

सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा है कि जनपदों में सरकारी भवनों की स्थिति का निरीक्षण किया जाए. यदि विद्यालय या अस्पताल आदि का संचालन जर्जर भवन में मिले तो तत्काल वैकल्पिक व्यवस्था करते हुए जर्जर भवन को ध्वस्त किया जाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 5, 2021, 3:37 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद (Ghaziabad) में मुरादनगर श्मशान घाट की घटना (Cremation Ground Tragedy) के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने प्रदेश के सभी मण्डलायुक्तों और जिलाधिकारियों को अहम निर्देश भेजे हैं. सीएम ने कहा है कि जनपदों में सरकारी भवनों की स्थिति का निरीक्षण किया जाए. निरीक्षण के दौरान यदि विद्यालय अथवा अस्पताल आदि का संचालन जर्जर भवन में मिले तो तत्काल वैकल्पिक व्यवस्था के तहत इनका संचालन अन्यत्र करते हुए जर्जर भवन को ध्वस्त किया जाए.

ठेकेदार और इंजीनयिरों से होगी वसूली

इससे पहले सीएम योगी ने ट्वीट किया, “मुरादनगर, जनपद गाजियाबाद की दुर्घटना अक्षम्य व अत्यंत पीड़ादायक है. हादसे के अभियुक्तों के विरुद्ध NSA के तहत कार्यवाही की जाएगी. किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा. मानक विरुद्ध निर्माण कार्य से सरकारी धन के हुए नुकसान की भरपाई संबंधित ठेकेदार तथा अभियंताओं से की जाएगी.”



सीएम योगी ने कहा है कि सरकारी तथा निजी क्षेत्र में संचालित सभी बेसिक एवं माध्यमिक स्तर के विद्यालयों तथा डिग्री कालेजों आदि के भवनों का गहन निरीक्षण किया जाए. सभी सार्वजनिक भवनों का भी निरीक्षण किया जाए. सरकारी कालोनियों के भवनों का निरीक्षण कर यह देखा जाए कि यह दुरुस्त अवस्था में हैं अथवा नहीं. जर्जर भवनों के सम्बन्ध में शासन के दिशा-निर्देशों के अनुरूप इनके ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की जाए.



धान क्रय रहेगा जारी

इसके अलावा मुख्यमंत्री ने धान खरीद कार्य को भी पूरी सक्रियता से संचालित करने के निर्देश दिए हैं. सीएम ने कहा कि धान क्रय लक्ष्य की पूर्ति हो जाने के बाद भी धान खरीद का कार्य निरन्तर जारी रखा जाए. कृषि उत्पादन आयुक्त को इस सम्बन्ध में स्पष्ट सर्कुलर निर्गत करने के निर्देश दिए गए हैं. किसान कल्याण मिशन के माध्यम से अधिक से अधिक किसानों को लाभान्वित करें, यह आयोजन अन्तर्विभागीय समन्वय से सम्पन्न किया जाए.

इनपुट: अनामिका सिंह
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज