UP पंचायत चुनाव: शिकायतों को निपटाने के लिए कंट्रोल रूम शुरू, 0522-2630115 पर कॉल कर ले सकते हैं जानकारी

नियंत्रण कक्ष में प्राप्त शिकायतों को संबंधित अनुभाग में समयबद्ध निस्तारण हेतु अनुश्रवण कराते हुए उसकी प्रगति की सूचना उच्चाधिकारियों को दी जाएगी. (सांकेतिक फोटो)

UP Panchayat Election 2021: राज्य निर्वाचन आयोग (State Election Commission) में खोले गए नियंत्रण कक्ष का पर्यवेक्षण एवं निरीक्षण आयोग के विशेष कार्याधिकारी सतीश कुमार सिंह द्वारा किया जाएगा.

  • Share this:
लखनऊ. त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (Panchayat Election) 2021 के निर्वाचन कार्यों को सुचारू रूप से संचालित किए जाने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने पीसीएफ भवन, 32-स्टेशन रोड कार्यालय में नियंत्रण कक्ष खोला है. नियंत्रण कक्ष (Control Room) में 0522-2630115 के माध्यम से नियंत्रण कक्ष में लगे कार्मिकों द्वारा जनपदों से त्वरित आवश्यक सूचनाएं प्राप्त की जा सकती हैं. यह कन्ट्रोल रूम (Control Room) 24 घंटे काम करेगा. यहां कर्मचारी 3 शिफ्टों में सुबह 06.00 बजे से तैनात किए गए हैं. प्रथम पाली प्रातः 6.00 से अपराह्न 2.00 तक, द्वितीय पाली अपराह्न 02.00 बजे से रात्रि 10.00 बजे तक तथा तृतीय पाली रात्रि 10.00 बजे से सुबह 06.00 बजे तक संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी तैनात रहेंगे.

राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त मनोज कुमार ने नियंत्रण कक्ष में लगे कार्मिकों को निर्देशित किया है कि वे जनपदों से त्वरित सूचना प्राप्त करने, दिन-प्रतिदिन नामांकन, संवीक्षा, नाम वापसी, पोलिंग पार्टियों की रवानगी, सकुशल पहुंचने एवं मतदान के दिन मतदान के प्रतिशत की सूचना प्राप्त कर संकलित करेंगे. उन्होंने यह भी निर्देश दिए हैं कि नियंत्रण कक्ष के माध्यम से प्राप्त शिकायतों को तत्काल निस्तारण सुनिश्चित कराये जाने हेतु संबंधित अनुभाग को उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित कराएं. आयुक्त मनोज कुमार ने निर्देश दिए हैं कि आगमी 24 घण्टे के अन्दर दूरभाष संख्या-0522-2630115 के अतिरिक्त 02 या 03 फोन और स्थापित कराकर चालू करा दिए जाएं, ताकि कॉल करने वालों को किसी प्रकार की असुविधा न हो.

प्रगति की सूचना उच्चाधिकारियों को दी जाएगी
राज्य निर्वाचन आयोग में खोले गए नियंत्रण कक्ष का पर्यवेक्षण एवं निरीक्षण आयोग के विशेष कार्याधिकारी सतीश कुमार सिंह द्वारा किया जाएगा. नियंत्रण कक्ष में प्राप्त शिकायतों को संबंधित अनुभाग में समयबद्ध निस्तारण हेतु अनुश्रवण कराते हुए उसकी प्रगति की सूचना उच्चाधिकारियों को दी जाएगी.