अपना शहर चुनें

States

प्रियंका गांधी की भेजी 1000 बसों की लिस्ट पर नया बखेड़ा, वायरल लिस्ट में बाइक, ऑटो के नंबर होने का दावा

उत्तराखंड सरकार कैबिनेट की बैठक में टैक्स में छूट का निर्णय ले सकती है. (सांकेतिक तस्वीर)
उत्तराखंड सरकार कैबिनेट की बैठक में टैक्स में छूट का निर्णय ले सकती है. (सांकेतिक तस्वीर)

सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल लिस्ट में एक नंबर यूपी 83 T 1106 के मालिक का नाम इरशाद और वाहन थ्री व्हीलर बताया जा रहा है. यही नहीं एक और नंबर यूपी 85 T 65 76 प्लेटिना बाइक मालिक जितेंद्र कुमार बताया जा रहा है.

  • Share this:
लखनऊ. प्रवासी मजदूरों (Migrants laborers) को उनके घर तक पहुंचाने के लिए कांग्रेस (Congress) की ओर से भेजी गई बसों की लिस्ट पर नया बखेड़ा शुरू हो गया है. कांग्रेस द्वारा मुहैया कराई गई 1000 बसों की लिस्ट में कई नंबर कार, बाइक और ऑटो के निकल रहे हैं. सोशल मीडिया पर वायरल लिस्ट में एक नंबर यूपी 83 T 1106 के मालिक का नाम इरशाद और वाहन थ्री व्हीलर बता रहा है. यही नहीं एक और नंबर यूपी 85 T 65 76 प्लेटिना बाइक मालिक जितेंद्र कुमार बताया जा रहा है. सोशल मीडिया में कांग्रेस की ओर से भेजी गई बसों की यह लिस्ट वायरल हो गई है. वहीं, सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि प्राथमिक जांच में कांग्रेस की बसें ऑटो मैजिक निकली हैं. उनका दावा है कि इसकी जांच भारत सरकार के पोर्टल पर की गई है.

उधर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी की तरफ से आज प्रियंका गांधी के निजी सचिव को एक और पत्र भेजा गया है. इस पत्र में उन्होंने लिखा है कि आपके पत्र के अनुसार आप लखनऊ में बस देने में असमर्थ हैं. और नोएडा, गाजियाबाद बॉर्डर पर ही बस देना चाहते हैं. अत: ऐसी स्थिति में कृपया जिलाधिकारी, गाजियाबाद को 500 बसें 12 बजे तक उपलब्ध कराने का कष्ट करें. डीएम गाजियाबाद को निर्देशित किया गया है. गाजियाबाद में जिला प्रशसन द्वारा सभी बसों को रिसीव किया जाएगा और इनका उपयोग किया जाएगा. कृपया गाजियाबाद में कौशांबी बस अड्डा और साहिबाबाद बस अड्डे में बसें उपलब्ध कराने का कष्ट करें.

cong 2
सोशल मीडिया पर कांग्रेस की बसों के नंबर की लिस्ट को लेकर तमाम तस्वीरें शेयर की जा रही हैं.




गौतमबुद्धनगर डीएम यहां करेंगे रिसीव
अवनीश अवस्थी ने आगे लिखा है कि इसके अलावा 500 बसें नोएडा में जिलाधिकारी, गौतमबुद्धनगर को एक्स्पो मार्ट के निकट ग्राउंड पर उपलब्ध कराने का कष्ट करें. डीएम बसों का परमिट, फिटनेस, इंश्योरेंस आदि के कागजात और चालक के लाइसेंस व कंडक्टर के कागजात चेक कर बसों का उपयोग तत्काल करेंगे, ये निर्देश दिए गए हैं.

ये भी पढ़ें:-

योगी सरकार की सरकारी खर्च में कटौती का UP ब्यूरोक्रेसी पर सीधा असर

1000 बसों की सूची भेजने के बाद UP सरकार ने प्रियंका गांधी से मांगी यह जानकारी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज