UP News: नोटिस के बाद भी तोड़ा कोरोना प्रोटोकॉल, लखनऊ का Fun Mall पूरा सील

लखनऊ का फन मॉल पूरा सील.

लखनऊ का फन मॉल पूरा सील.

Coronavirus in Uttar Pradesh: लगातार नोटिस के बावजूद कोरोना प्रोटोकॉल (Corona Protocol) तोड़ने वाले लखनऊ के एक मॉल पर प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की. अधिकारियों को पूरे मॉल की तालाबंद कर उसे सील कर दिया है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) के सबसे बड़े मॉल में से एक फन मॉल (Fun Mall) को जिला प्रशासन ने सील कर दिया है. जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश के निर्देश पर बुधवार को एसडीएम सदर ने सील की कार्रवाई पूरी की है. इससे पहले मॉल के जिम्मेदार को जिला प्रशासन की तरफ से कई बार नोटिस भेजी गई थी. लेकिन उनकी तरफ से कोविड प्रोटोकॉल (Corona Protocol) पर कोई भी कार्रवाई नहीं की गई थी. इसके बाद कार्रवाई करते हुए प्रशासन की टीम ने मॉल को सील कर दिया. मालूम हो कि गोमतीनगर स्थित फन मॉल लखनऊ सबसे बड़े मॉल में से एक है. फन मॉल के अंदर 200 से ज्यादा विभिन्न तरीके के प्रतिष्ठान हैं. मॉल में ना सिर्फ सिनेमा घर है बल्कि खाने के कई स्टोर, कपड़ों की दुकान है ,मल्टी ब्रांडेड स्टोर भी हैं. जिला प्रशासन ने मॉल के अंदर मौजूद सभी प्रतिष्ठान के मालिकों को तत्काल दुकान बंद करने के निर्देश दिए. साथ ही सभी कर्मचारियों को मॉल के अंदर से बाहर निकाल दिया.

मॉल के बाहर सुरक्षा कर्मी तैनात कर दिए गए हैं. बाकी के सारे कर्मचारियों को बाहर कर मॉल के बाहर तालाबंदी कर  जिला प्रशासन ने सील कर दिया है. लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने साफ किया है कि इस तरह की कार्रवाई आगे आने वाले दिनों में जारी रहेगी. उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति या संस्था या प्रतिष्ठान चाहे कितना बड़ा भी हो लेकिन अगर कोविड प्रोटोकॉल तोड़ेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

Youtube Video


जिला न्य़ायालय तीन दिन के लिए बंद
उत्तर प्रदेश के कौशांबी में दो न्यायाधीशों और एक पेशकार के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद जिला न्यायालय को तीन दिन के लिए बंद कर दिया गया है. मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर पीएन चतुर्वेदी ने  बताया कि बुधवार को न्यायालय परिसर में व्यापक स्तर पर कोविड-19 की जांच कराई गई थी जिसमें अपर सिविल जज जूनियर डिविजन वर्ग के दो न्यायाधीश और एक पेशकार में कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई है. एक जज और पेशकार का इलाज प्रयागराज में किया जा रहा है. जबकि एक अन्य संक्रमित जज का उपचार कौशांबी जिला अस्पताल में हो रहा है.

ये भी पढ़ें: Delhi News: आखिरकार 2 फीट के अजीम मंसूरी के सिर सजेगा सेहरा, जानें कौन बनेगी उनकी दुल्हनिया

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर पीएन चतुर्वेदी के मुताबिक, कौशांबी जनपद न्यायालय को एहतियातन 1 से 3 अप्रैल तक बंद कर दिया गया है. पूरे न्यायालय परिसर को सैनिटाइज किया जा रहा है और अब जनपद न्यायालय सोमवार यानी पांच अप्रैल को खुलेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज