उत्तर प्रदेश में तेजी से बढ़ रहा कोरोना का संक्रमण, मरीजों का आंकड़ा 6000 के पार

हिमाचल में कोरोना संक्रमण. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
हिमाचल में कोरोना संक्रमण. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि कामगारों और श्रमिकों की थर्मल स्क्रीनिंग (Thermal Screening) करने के बाद यदि उनमें लक्षण नहीं है, तो उनको 21 दिन के होम क्वॉरेंटाइन में भेजा जा रहा है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कोरोना संक्रमण (COVID-19 Infection) के केस लगातार बढ़ते जा रहे हैं. स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक यूपी में 288 नए मरीज के साथ संक्रमितों का आंकड़ा 6017 तक पहुंच गया है. तीन और मरीजों की मौत के साथ अब तक 155 लोग इस बीमारी के कारण अपनी जान गंवा चुके हैं. प्रदेश में अब 3406 मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं. वहीं पिछले 8 दिनों में उत्तर प्रदेश में कुल 2035 कोरोना पॉजिटिव के नए केस मिले है. उत्तर प्रदेश के मुख्य स्वास्थ्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने शनिवार को बताया कि प्रदेश में कोरोना वायरस के कुल सक्रिय मामलों की संख्या 2332 तक पहुंच गई है. हालांकि अब तक 3335 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं. वहीं 152 मरीजों की कोरोना से मौत हो चुकी है.

अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि कामगारों और श्रमिकों की थर्मल स्क्रीनिंग करने के बाद यदि उनमें लक्षण नहीं है, तो उनको 21 दिन के होम क्वॉरेंटाइन में भेजा जा रहा है. उन्होंने बताया कि अब तक 7 लाख 44 हज़ार 821 प्रवासी कामगार और श्रमिकों का आशा कार्यकर्ताओं द्वारा सर्वेक्षण किया गया है और वो होम क्वारंटाइन में हैं, जिसमें से 844 लोगों में लक्षण देखे गए हैं और सैंपल लेकर इनकी जांच की जा रही है.

प्रसाद ने बताया कि अब तक ढाई हजार से अधिक चिकित्सालयों में आपातकालीन सेवाएं प्रारंभ कर दी गई हैं. बच्चों के लिए वैक्सिनेशन की सेवाएं लगातार पूरे प्रदेश में उपलब्ध हैं. उन्होंने बताया कि अब हम एनएसएस, एनसीसी नेहरू युवा केंद्र आदि के लोगों को भी कोविड वालेंटियर फोर्स के रूप में भी नियुक्त करने जा रहे हैं. इस फोर्स से हम वोलेंट्री सर्विस लेंगे. उन्होंने कहा कि इस से सम्बन्धित अधिक जानकारी के लिए वेबसाइट पर विजिट करें और जो भी संस्था के सदस्य अपनी सेवाएं देना चाहते हैं, वो पंजिकरण कर सकते हैं. युवक और युवतियों को ख़ासतौर पर वालेंटियर के रूप में सेवा देने का अवसर प्रदान किया जाएगा.



ये भी पढे़ं:
COVID-19: अस्पतालों में भर्ती मरीज अब नहीं रख सकेंगे मोबाइल, योगी सरकार ने लगाया बैन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज