अपना शहर चुनें

States

लखनऊ पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप, 15 दिसंबर से स्वास्थ्यकर्मियों को लगेगी

लखनऊ में 15 दिसंबर से स्वास्थ्य कर्मियों को लगेगी Vaccine की डोज (File photo)
लखनऊ में 15 दिसंबर से स्वास्थ्य कर्मियों को लगेगी Vaccine की डोज (File photo)

उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में COVID-19 से संक्रमित 2,067 नए मामले आए. स्वास्थ्य विभाग के उच्च अधिकारियों ने बताया कि क्लियरेंस मिलने के बाद वैक्सीन लगाने का काम शुरू कर दिया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 24, 2020, 9:00 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते संक्रमण के बीच इसके वैक्सीन (Vaccine) को लेकर राहत भरी खबर है. कोरोना वैक्सीन की पहली खेप लखनऊ पहुंच चुकी है. ऐसा माना जा रहा है कि दिसंबर के दूसरे सप्ताह तक वैक्सीन सरकारी अस्पतालों तक पहुंच जाएगी. फिलहाल सरकारी अस्पतालों को अपनी कोल्ड चेन मेंटेन रखने के लिए कहा गया है. 10 दिसंबर तक कोरोना की वैक्सीन अस्पतालों के कोल्ड चेन तक पहुंचने की संभावना है. पहले चरण में कोरोना के फ्रंट वारियर यानी स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन दी जाएगी. अस्पतालों को यह भी कहा गया है कि वह अपने यहां से सभी स्वास्थ्यकर्मियों के नाम-पते और डिटेल भेज दें.

इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी कोरोना के सेकंड-वेव को लेकर बैठक की है. विशेषज्ञ मान रहे हैं कि स्वास्थ्यकर्मियों को वैक्सीन लगाए जाने से कम से कम उनमें काम करने का जज्बा बढ़ेगा और कोरोना से लड़ने में अलग ताकत मिलेगी. फिलहाल उत्तर प्रदेश में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी, हिंदुस्तान बॉयोटेक की वैक्सीन आने की खबर है. स्वास्थ्य विभाग के उच्च अधिकारियों ने बताया कि क्लीयरेंस मिलने के बाद राजधानी लखनऊ के नादरगंज इलाके में स्थित वेयरहाउस में रखी गई वैक्सीन को लगाए जाने का काम शुरू कर दिया जाएगा.

यूपी में कोरोना के 24 घंटे में 2,067 नए केस
बता दें कि उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना से संक्रमित 2,067 नए मामले सामने आए हैं. अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में 23,776 कोरोना के एक्टिव मामले हैं. प्रदेश में कोविड-19 रिकवरी रेट 94.07 प्रतिशत हो गया है. प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,61,841 क्षेत्रों में 4,61,665 टीम द्वारा 2 करोड़ 92 लाख 22,272 घरों की 14 करोड़ 30 लाख 08,722 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है. सभी जिला चिकित्सालयों में पोस्ट कोविड केयर की सुविधा उपलब्ध है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज