अपना शहर चुनें

States

योगी सरकार का बजट: यूपी की आबादी 24 करोड़ और कोरोना वैक्‍सीन के ल‍िए मिले बस 50 करोड़

व‍ित्‍त मंत्री सुरेश खन्ना ने बजट में कोविड-19 की रोकथाम हेतु टीकाकरण योजना के ल‍िए 50 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित क‍िए हैं.  
(सांकेतिक तस्वीर)
व‍ित्‍त मंत्री सुरेश खन्ना ने बजट में कोविड-19 की रोकथाम हेतु टीकाकरण योजना के ल‍िए 50 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित क‍िए हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

Corona vaccine budget: व‍ित्‍त मंत्री सुरेश खन्ना ने बजट में कोविड-19 की रोकथाम हेतु टीकाकरण योजना के ल‍िए 50 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित क‍िए हैं.

  • Share this:
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली बीजेपी सरकार ने सोमवार को अपने इस कार्यकाल का अंतिम पूर्ण बजट यूपी वि‍धानसभा में पेश क‍िया. 10 महीने बाद यूपी में व‍िधानसभा चुनाव होने है तो हर किसी को उम्‍मीद थी की सरकार अपने प‍िटारे से फ्री कोरोना वैक्सीन का तोहफा प्रदेश की जनता को दे सकती है. योगी सरकार ने वैक्‍सीन के बजट न‍िर्धार‍ित तो क‍िया पर वह प्रदेश की 24 करोड़ जनता के ल‍िए नाकाफी सा द‍िख रहा है. व‍ित्‍त मंत्री सुरेश खन्ना ने बजट में कोविड-19 की रोकथाम हेतु टीकाकरण योजना के ल‍िए 50 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित क‍िए हैं.

- राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन हेतु 5395 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित.
- आयुष्मान भारतयोजना के लिये 1300 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित.
- आयुष्मान भारत-मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना हेतु 142 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित.
- प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के लिये 320 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित.
- प्राथमिक स्वास्थ्य परिचर्या सुविधाओं के लिये डायग्नॅस्टिक बुनियादी ढांचा सृजित किये जाने हेतु 1073 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित.


- शहरी स्वास्थ्य एवं आरोग्य केन्द्रों हेतु 425 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित.
- राज्य औषधि नियंत्रण प्रणाली के सुदृढ़ीकरण के लिये 54 करोड़ रुपये तथा प्रदेश के 12 मण्डलों में खाद्य एवं औषधि प्रयोगशालाओं एवं मण्डलीय कार्यालयों के निर्माण हेतु 50 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित.
- ब्लॉक स्तर पर लोक स्वास्थ्य इकाइयों की स्थापना हेतु 77 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित.

चिकित्सा शिक्षा के ल‍िए योगी सरकार के बजट में क्‍या, जानें
- प्रदेश में 13 जनपदों- बिजनौर, कुशीनगर, सुल्तानपुर, गोण्डा , ललितपुर, लखीमपुर-खीरी, चन्दौली, ब ुलन्दशहर, सोनभद्र, पीलीभीत, औरैया, कानपुर देहात तथा कौशाम्बी मेंनिर्माणाधीन नये मेडिकल कॉलेजों के लिये 1950 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित.
- प्रदेश के 16 असेवित जनपदों में पीपीपी मोड में मेडिकल कॉलेज संचालित कराये जाने हेतु 48 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित.
- राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के लिये 23 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित.
- एटा, हरदोई, प्रतापगढ़, फतेहपुर, सिद्धार्थनगर, देवरिया, गाजीपुर एवं मीरजापुर में निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेजों में जुलाई, 2021 से शिक्षण सत्र प्रारम्भ किये जाने का लक्ष्य। इस हेतु 960 करोड़ रुपये का बजट प्रस्तावित.
- अमेठी एवं बलरामपुर में नये मेडिकल कॉलेज की स्थापना हेतु 175 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित.
- मा0 अटल बिहारी बाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय, लखनऊ की स्थापना हेतु 100 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित. - असाध्य रोगों की चिकित्सा सुविधा मुहैया कराये जाने हेतु 100करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित.
- लखनऊ में इंस्टीटयूट ऑफ वायरोलॉजी एण्ड इन्फेक्शस डिजीजेज के अन्तर्गत बायो सेफ्टी लेवल-4 लैब की स्थापना का लक्ष्य.
- एसजीपीजीआई, लखनऊ में उन्नत मधुमेह केन्द्र की स्थापना कराये जाने का निर्णय.
- आयुर्वेदिक एवं यूनानी चिकित्सालयों में प्रमाणित एवं गुणकारी औषधियों की आपूर्ति की व्यवस्था हेतु प्रदेश में 02 राजकीय औषधि निर्माणशालाएं लखनऊ एवं पीलीभीत को सुदृढ़ करने एवं उत्पादन क्षमता में वृद्धि किये जाने का लक्ष्य.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज