COVID-19: UP के 16 जिलों में लॉक डाउन, जानिए क्या हैं आपके और पुलिस के अधिकार
Lucknow News in Hindi

COVID-19: UP के 16 जिलों में लॉक डाउन, जानिए क्या हैं आपके और पुलिस के अधिकार
इस लड़ाई को जीतने का सबसे अच्छा तरीका लॉकडाउन ही है.

दरअसल, लॉक डाउन के दौरान कुछ जरुरी सेवाओं को छोड़कर सब कुछ बंद रहेगा. इस दौरान लोगों को अपने घरों में ही रहने की हिदायत होगी

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
लखनऊ. कोरोनावायरस (Coronavirus) को देखते हुए योगी सरकार (Yogi Government) ने उत्तर प्रदेश के 16 जिलों को लॉक डाउन (Lock down) कर दिया है. लॉक डाउन के दौरान आमजन क्या कर सकते हैं और उनके क्या अधिकार होंगे, ये भी जानना जरुरी है. लॉक डाउन को लेकर किसी भी तरह की पैनिक होने की जरुरत नहीं है और न ही असमंजस में रहने की. दरअसल, लॉक डाउन के दौरान कुछ जरुरी सेवाओं को छोड़कर सब कुछ बंद रहेगा. इस दौरान लोगों को घरों में ही रहने की हिदायत होगी. इमरजेंसी की स्थिति में ही वो बाहर निकल सकेंगे. साथ ही प्राइवेट और पब्लिक ट्रांसपोर्ट पूरी तरह से बंद रहेंगे. ऑफिस, स्कूल, कॉलेज, मॉल, जिम, क्लब, रेस्तरां, सिनेमाहॉल, मल्टीप्लेक्स इत्यादि बंद रहेंगे. इतना ही नहीं इस दौरान पुलिस के पास भी कुछ विशेष अधिकार होंगे.

जिन जिलों में लॉक डाउन की घोषणा की गई है वहां कोई भीड़-भाड़ इकट्ठा होती है या नियम कोई तोड़ता है तो उसके खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई का आदेश दिया गया है. इस दौरान सभी 16 जिलों को सैनिटाइज कराया जाएगा. दूसरी तरफ सरकार ने कुछ चीजों पर पूरी तरह से पाबंदी लगाई है तो आवश्यक चीजों की वस्तुओं को छूट भी प्रदान की गई है.

आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सब कुछ रहेगा बंद



लॉक डाउन के दौरान सभी सरकारी कार्यालय बंद रहेंगे. शैक्षणिक संस्थान भी बंद रहेंगे. अर्ध सरकारी उपक्रम भी बंद रहेंगे. स्वायत्तशासी संस्थाएं भी बंद रहेंगी. राजकीय निगम व मंडल बंद रहेगा. समस्त व्यापारी प्रतिष्ठान बंद रहेंगे. निजी कार्यालय बंद रहेंगे. मॉल्स, दुकानें और फैक्ट्रियां भी बंद रहेंगी. वर्कशॉप और गोदाम बंद रहेगा. सार्वजनिक परिवहन पूरी तरह से ठप रहेंगे. इसके तहत मेट्रो, रोडवेज, सिटी परिवहन, प्राइवेट बसें, टैक्सी, ऑटो रिक्शा और ई-रिक्शा पूरी तरह से बंद रहेगा.



इन पर नहीं होगा बंदी का असर

सरकार की एडवाइजरी में कुछ आवश्यक सेवाओं में शामिल प्रतिष्ठान बंद नहीं रहेंगे. चिकित्सा शिक्षा में परिवार कल्याण विभाग व चिकित्सा शिक्षा, गृह गोपन, सशस्त्र बल एवं अर्धसैनिक बल, पुलिस, कार्मिक विभाग एवं जिला प्रशासन, ऊर्जा, नगर विकास, खाद्य-रसद जिसमें फल, सब्जी, दूध, डेयरी, किराना और पेयजल शामिल हैं. आपदा एवं राहत और राज्य संपत्ति विभाग, सूचना विभाग, अग्निशमन एवं सिविल डिफेंस.

इन्हें भी होगी छूट

आपातकालीन सेवाएं, टेलीफोन, इंटरनेट डाटा सेंटर, नेटवर्क, आईटी संबंधित सेवाएं, डाक सेवाएं, बैंक, एटीएम, बीमा कंपनियां, ई-कॉमर्स, खाद्य वस्तु, होम डिलीवरी के साथ ही प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, सोशल मीडिया, पेट्रोल पंप, एलपीजी गैस, ऑयल एजेंसी, दवा की दुकान, चिकित्सीय उपकरण सामग्री एवं दवाइयों की निर्माण इकाइयां तथा आवश्यक वस्तुओं के उत्पादन, खाद्य सामग्री, कृषि उत्पाद, निर्माण इकाइयों से संबंधित थोक और फुटकर विक्रेता, पशु चिकित्सा और पशु आहार से संबंधित इकाइयां और उनके विक्रेताओं को छूट रहेगी.

जरूरी हो तभी निकले

लॉक डाउन के दौरान जितना संभव हो घर से बाहर निकलने से बचें, अनावश्यक रूप से बाहर न निकलें. इस दौरान पुलिस को अधिकार होगा कि अगर आप बिना किसी वजह के बाहर हैं तो वो आपको घर छोड़कर आए या फिर न मानने पर विधिक करवाई भी हो सकती है. दूध, सब्जी, राशन या दवाई लेने के लिए निकल सकते हैं. लेकिन खरीदारी के बाद तुरंत अपने घरों को लौट जाएं. बीमार व्यक्ति या गर्भवती महिलाएं इमरजेंसी में बाहर निकल सकती हैं.

(इनपुट: अजीत सिंह)

ये भी पढ़ें:

मैनपुरी: पुत्रवधू ने मारपीट कर घर से निकाला, महिला थानाध्यक्ष ने गले लगाया

लखनऊ: जनता कर्फ्यू के दौरान ट्रैफिक पुलिस ने बनाया अनोखा रिकॉर्ड
First published: March 23, 2020, 9:28 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading