लाइव टीवी

COVID-19: Lockdown में एक हफ्ते से बिना सूचना नदारद मिर्जापुर के मंडी उपनिदेशक सस्पेंड
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: March 31, 2020, 10:04 PM IST
COVID-19: Lockdown में एक हफ्ते से बिना सूचना नदारद मिर्जापुर के मंडी उपनिदेशक सस्पेंड
प्रतीकात्मक तस्वीर

मिर्जापुर के मंडी उपनिदेशक (निर्माण) अशोक कुमार एक हफ्ते से दूरभाष (Phone) व वाट्सएप (WhatsApp) पर संपर्क किए जाने के बावजूद न तो वो फोन उठा रहे थे और न ही रिप्लाई कर रहे थे. आपातकालीन स्थिति (Emergency Condition) में लापरवाही बरतने के कारण उन्हें निलंबित कर दिया गया है.

  • Share this:
लखनऊ. महामारी (Pandemic) कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर पूरे देश में लॉकडाउन (Lockdown) है. लोगों को जरुरी सामान मुहैया कराने से लेकर सभी प्रकार की जिम्मेदारियों का निर्वहन प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा किया जा रहा है. ऐसे हालातों में भी कुछ अधिकारी गैर जिम्मेदाराना रवैया अपना रहे हैं. लेकिन योगी सरकार काम में शिथिलता बरतने वाले अफसरों को बरतने मूड में बिलकुल नहीं है. गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी बीएन सिंह के बाद आज मिर्जापुर के मंडी उपनिदेशक (निर्माण) को काम में शिथिलता बरतने के आरोप के बाद निलंबित कर दिया गया है. उप निदेशक अशोक कुमार को लॉकडाउन में फल सब्जी की आपूर्ति में लापरवाही बरतने और COVID-19 से बचाव के लिए मंडी में सेनेटाइजेशन के काम को उचित ढंग से न किए जाने को लेकर निलंबित कर दिया गया और उनकी जगह प्रयागराज मंडी उपनिदेशक महेंद्र कुमार को अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है.

आदेशों की अवहेलना का आरोप
अपर निदेशक कुमार विनीत के मुताबिक कोरोना वायरस (Coronavirus disease) के संक्रमण से बचाव के मद्देनजर लॉकडाउन में आवश्यक वस्तुओं (Essential commodity) मसलन फल, सब्जी की निर्बाध आपूर्ति बनाए रखने, सार्वजनिक स्थलों और व्यवसायिक स्थानों पर सैनेटाईजेशन (Sensitization) के निर्देश जारी किए गए थे. जिसके लिए 2 लाख का बजट भी जारी किया गया था. सभी उप निदेशकों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (video conferencing), वाट्सऐप (WhatsApp)और मोबाइल (mobile phone) के जरिए सूचनाएं भेजनी थी. लेकिन उप-निदेशक अशोक कुमार ने कोई सूचना मुहैया नहीं कराई. ऐसी आपातकालीन स्थिति (Emergency Condition) में लापरवाही बरतने के कारण उन्हें निलंबित कर दिया गया. उनकी जगह चार्ज महेंद्र कुमार को सौंपा गया है.

मुख्य अभियंता ग्रेड- 2 जेके सिंह के मुताबिक उपनिदेशक अशोक कुमार विगत एक हफ्ते से दूरभाष व वाट्सएप पर संपर्क किए जाने के बावजूद न तो फोन उठा रहे थे और न ही व्हाट्सएप पर रिप्लाई कर रहे थे. ऐसे में बार-बार मुख्यालय से उनकी लोकेशन मांगी गयी किंतु अशोक कुमार द्वारा मुख्यालय को अपनी लोकेशन तक से अवगत नहीं कराया गया. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा कोरोना जैसी आपदा को लेकर किसानों को इस महामारी से बचाने के लिए हर संभव उपाय करने के निर्देश दिए गए हैं और ऐसे आपातकाल में अशोक कुमार का यह आचरण अनुशासनहीनता की श्रेणी में आता है. उन्होंने बताया कि निदेशक मंडी परिषद को मेरे द्वारा अशोक कुमार के विरुद्ध आवश्यक अनुशासनात्मक कार्यवाही की संस्तुति की गई थी जिसके परिणाम स्वरूप इनको निलंबित किया गया है.



वित्त नियंत्रक को किया जांच अधिकारी नियुक्त


अपर निदेशक (प्रशासन) के मुताबिक कोरोना महामारी के इस दौर में जहां ज्यादातर अधिकारी निरंतर सहयोग कर रहे हैं. वहां उपनिदेशक की ओर से हुई अनुशासनहीनता से विभाग की छवि धूमिल हुई है. ऐसे में उन्हें निलंबित करते हुए इनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की भी जांच की संस्तुति की गई है. उन्होंने बताया कि अनुशासनात्मक कार्यवाही में वित्त नियंत्रक मंडी परिषद आनंद प्रताप सिंह को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है. निलंबन की अवधि तक अशोक कुमार जांच अधिकारी के कार्यालय से संबद्ध रहेंगे.

ये भी पढ़ें- लॉकडाउन पर CM योगी सख्त, कहा- कोताही बर्दाश्त नहीं, बरेली मामले में कार्रवाई के आदेश


COVID-19: ग्रामीणों ने गांव में खींची लक्ष्मण रेखा, बोले- Lockdown का सख्ती से करेंगे पालन


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 31, 2020, 10:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading