लखनऊ: KGMU में सफल प्लाज्मा थेरेपी के बाद कोरोना पॉजिटिव डॉक्टर की हार्ट अटैक से मौत
Lucknow News in Hindi

लखनऊ: KGMU में सफल प्लाज्मा थेरेपी के बाद कोरोना पॉजिटिव डॉक्टर की हार्ट अटैक से मौत
हिमाचल में कोरोना के मामले.(कॉन्सेप्ट इमेज)

यूपी में पहली बार 26 अप्रैल को केजीएमयू (KGMU) में कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित किसी मरीज का प्लाज्मा पद्धति (Plasma Therapy) से इलाज किया गया था. यह उरई के चिकित्सक थे और उनको प्लाज्मा देने वाली महिला भी कनाडा की एक डॉक्टर है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के लखनऊ (Lucknow) स्थित किंग जॉर्ज मेडिकल विश्वविद्यालय (KGMU) में पहली बार कोरोना संक्रमित व्यक्ति का प्लाज्मा पद्धति से इलाज किया गया था. लेकिन शनिवार शाम को दिल का दौरा पड़ने से उसकी मौत हो गई. हालांकि, उनकी कोरोना संक्रमण (Coronavirus) की दो रिपोर्ट निगेटिव आई थी. प्लाज्मा चढ़ाए जाने वाले रोगी चूंकि बहुत पुराने मधुमेह और उच्च रक्तचाप से ग्रस्त रोगी थे, इसलिए उन्हें निरंतर चिकित्सकों की निगरानी में क्वारंटाइन वार्ड में रखा गया था.

उत्तर प्रदेश में पहली बार 26 अप्रैल को केजीएमयू में किसी कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज की प्लाज्मा पद्धति से इलाज किया गया था. यह संक्रमित उरई के चिकित्सक थे और उनको प्लाज्मा देने वाली महिला भी कनाडा की एक चिकित्सक है, जो पहले कोरोना वायरस से संक्रमित हुई थीं और केजीएमयू में ही भर्ती थीं.

केजीएमयू के कुलपति प्रोफेसर एमएलबी भट्ट ने बताया कि '14 दिन बाद मरीज की हालत स्थिर थी. प्लाज्मा पद्धति देने के बाद उनके फेफड़े की स्थिति में काफी सुधार आया था. बाद में उनके पेशाब की नली में संक्रमण हो गया था. उन्होंने बताया कि शनिवार को मृतक की दोनों कोरोना रिपोर्ट भी निगेटिव आयी थी लेकिन शाम पांच बजे के करीब उनको दिल का दौरा पड़ा और चिकित्सकों के प्रयासों के बावजूद उन्हें बचाया नहीं जा सका.



प्लाज्मा ट्रीटमेंट से आया था सुधार
केजीएमयू की रक्तब्लड ट्रांसफ्यूजन मेडिसिन विभाग की अध्यक्ष डॉ. तूलिका चंद्रा ने शनिवार को बताया, '58 वर्षीय कोरोना संक्रमित डॉक्टर की पहली बार प्लाज्मा पद्धति से इलाज किया गया था. उनकी हालत पहले बहुत खराब थी, लेकिन प्लाज्मा पद्धति से इलाज किए जाने के बाद उनके फेफड़ों की स्थिति में काफी सुधार हुआ था. चूंकि वह मधुमेह और उच्च रक्तचाप के पुराने रोगी है इसलिए अभी उन्हें एहतियातन वेंटीलेटर पर रखा गया था. डॉक्टरों की टीम लगातार उन पर नजर रख रही थी और उनकी कोरोना रिपोर्ट भी निगेटिव आई थी. लेकिन दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया.' उन्होंने बताया कि उनके साथ उनकी पत्नी भी कोरोना पॉजिटिव पाई गई थीं, उनकी रिपोर्ट निगेटिव पाए जाने के बाद शनिवार को उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई.

ये भी पढ़ें: आजमगढ़: दो दिन से लापता दुकानदार का शव मिलने से सनसनी, मृतक की पत्नी मौके से फरार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading