बाहरी राज्यों में फंसे यूपी वालों की मदद के लिए CM योगी ने दिए विशेष निर्देश, बोले किसी भी कीमत पर न हो परेशानी
Lucknow News in Hindi

बाहरी राज्यों में फंसे यूपी वालों की मदद के लिए CM योगी ने दिए विशेष निर्देश, बोले किसी भी कीमत पर न हो परेशानी
मुख्यमंत्री ने बाहरी राज्यों में फंसे यूपी वालों की मदद के लिए विशेष निर्देश दिए

COVID-19: साथ ही सीएम योगी ने इस दौरान एक ओर जहां लाँकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग को कोरोना वायरस का सबसे प्रभावी इलाज बताया, तो वहीं देश के अन्य राज्यों में फंसे यूपी वालों से अपील की कि वे जहां हैं वहीं रहें. उसी स्थान पर उनकी हर संभव मदद किये जाने का भी आश्वासन दिया.

  • Share this:
लखनऊ. देश-प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोनावायरस (Coronavirus) को रोकने के लिये इन दिनों पूरा देश लॉकडाउन (Lockdown) कर दिया गया है. जिसके चलते सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने देश के विभिन्न राज्यो में फंसे यूपी के लोगों की मदद के लिये राज्यवार नामित किये गये पुलिस-प्रशासनिक व नोडल अधिकारियों के साथ एक अहम बैठक की. जिसमें सीएम योगी ने न सिर्फ अब तक देश के विभिन्न राज्यों में फंसे लोगों की मदद के लिये किये गये कार्यों की विधिवत समीक्षा की, बल्कि इस दौरान यूपी के लोगों को किसी भी कीमत पर कोई परेशानी न होने का सख्त निर्देश दिया.

साथ ही सीएम योगी ने इस दौरान एक ओर जहां लाँकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग को कोरोना वायरस का सबसे प्रभावी इलाज बताया, तो वहीं देश के अन्य राज्यों में फंसे यूपी वालों से अपील की कि वे जहां हैं वहीं रहें. उसी स्थान पर उनकी हर संभव मदद किये जाने का भी आश्वासन दिया.

तत्काल मदद के निर्देश



सीएम योगी ने सबसे पहले महाराष्ट्र, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ, उत्तराखंड, दिल्ली, बिहार, गुजरात, हिमांचल प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, जम्मू कश्मीर, उडीशा, तमिलनाडू, केरल और पूर्वोत्तर राज्यों के नामित वरिष्ठ पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियो से उनके राज्यों में यूपी के लोगों की समस्याओं की जानकारी हासिल की. उन्होंने यूपी के लोगों की समस्याओं के तत्काल समाधान के लिये कई आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिये.



सीएम योगी ने अन्य राज्यों में फंसे यूपी के लोगों की मदद के लिये सबसे पहले 14,15,16 अप्रैल को उन राज्यों के प्रमुख अखबारों में उत्तर प्रदेश सरकार की अपील के साथ संबंधित राज्य के नोडल अधिकारी के कंट्रोल रूम नंबर को प्रकाशित कराने का निर्देश दिया. फिर सभी अधिकारियों को उनके कंट्रोल रूम पर काँल करने वाले हर काँलर की बात बेहद ध्यानपूर्वक सुनकर न सिर्फ तत्काल उसकी समस्या का समाधान कराने का निर्देश दिया. बल्कि जरूरत पड़ने पर संबंधित राज्य के मुख्यसचिव, मुख्यमंत्री और राज्यपाल से भी संपर्क करने का निर्देश दिया है.

ये भी पढ़ें:

हवालात में बंद शख्स निकला कोरोना पॉज़िटिव, अब तक 5 पुलिसकर्मी होम क्वारेंटाइन

कोरोना पॉजिटिव बुजुर्ग भर्ती मामला: KGMU वीसी ने तलब की रिपोर्ट
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading