Home /News /uttar-pradesh /

COVID-19: ICMR के सहयोग से SGPGI में भी जल्द शुरू होगी प्लाज्मा थेरेपी....

COVID-19: ICMR के सहयोग से SGPGI में भी जल्द शुरू होगी प्लाज्मा थेरेपी....

हरियाणा के मेडिकल कॉलेज में भी प्‍लाज्‍मा थेरेपी से इलाज की उम्मीद (प्रतीकात्मक तस्वीर)

हरियाणा के मेडिकल कॉलेज में भी प्‍लाज्‍मा थेरेपी से इलाज की उम्मीद (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लखनऊ की किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) में रविवार रात प्लाज्मा थेरेपी प्रक्रिया शुरू हुयी यह रोगी 58 वर्षीय डाक्टर हैं जिनको प्लाज्मा देने वाली कनाडा की वही महिला डाक्टर हैं जो KGMU की पहली कोरोना पॉजिटिव पेशेंट थीं...

    लखनऊ. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Pandemic Coronavirus) के इलाज के लिए उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल कालेज (King George Medical College) में प्लाज्मा थेरेपी (Plasma therapy) से कोरोना वायरस रोगियों का इलाज आरंभ होने के बाद अब शहर के संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई) में भी प्लाज्मा थेरेपी पर काम शुरू होने की उम्मीद जताई जा रही है. भारतीय आर्युविज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के सहयोग से एसजीपीजीआई में अगले हफ्ते से प्लाज्मा थेरेपी शुरू होने की संभावना है.

    KGMU में भर्ती डॉ. पर प्लाज्मा थेरेपी का प्रयोग
    संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक प्रो. डॉ. आरके धीमान ने सोमवार को इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि 'संस्थान ने आईसीएमआर के सहयोग से प्लाज्मा थेरेपी पर काम करने की पूरी तैयारी कर ली है. संस्थान में इसके लिये डाक्टरों की एक विशेष टीम भी बना ली गयी है. आईसीएमआर से अनुमति मिलते ही यहां भी प्लाज्मा थेरेपी से कोरोना वायरस मरीजों का इलाज शुरू हो जायेगा. बता दें कि लखनऊ की किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) में रविवार रात प्लाज्मा थेरेपी प्रक्रिया शुरू हुयी. रविवार को वहां एक कोरोना वायरस रोगी को प्लाज्मा थेरेपी दी गयी.

    यह रोगी 58 वर्षीय डाक्टर हैं जिनको प्लाज्मा देने वाली कनाडा की एक महिला डाक्टर है. वह पहली कोरोना वायरस रोगी थीं जो यहां केजीएमयू में भर्ती हुई थीं. केजीएमयू के डाक्टरों के मुताबिक रविवार देर शाम मरीज को 200 मिली प्लाज्मा दिया गया और उनकी स्थिति पर नजर रखी जा रही है. अगर आवश्यकता हुयी तो सोमवार या मंगलवार को उन्हें दूसरी डोज दी जायेगी. अभी तक केजीएमयू में कोरोना वायरस से ठीक हुये तीन मरीज अपना प्लाज्मा दान कर चुके हैं.कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद मशहूर गायिका कनिका कपूर को एसजीपीजीआई में ही भर्ती कराया गया था.

    कनिका कपूर को प्लाज्मा के लिए बुलाने पर अभी विचार नहीं!
    एसजीपीजीआई के निदेशक धीमान से जब पूछा गया कि क्या कनिका कपूर को प्लाज्मा दान करने के लिये पीजीआई बुलाया जाएगा, इस पर उन्होंने कहा कि इस बारे में अभी कोई विचार नही किया गया है. हालांकि कनिका कपूर ने प्लाज्मा देने की इच्छा जताई है. पिछले सप्ताह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में प्लाज्मा थेरेपी पर काम जल्द शुरू करने का निर्देश दिया था. अधिकारियों ने बताया था कि मुख्यमंत्री ने चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को प्रदेश में प्लाज्मा थेरेपी को बढ़ावा देने का निर्देश दिया है जिस पर डॉक्टर्स काम कर रहे हैं. दिल्ली में प्लाज्मा थेरेपी के सकारात्मक नतीजे आने के बाद कोरोना के इलाज में इस थेरेपी पर काम किया जा रहा है. (इनपुट-भाषा)

    ये भी पढ़ें- Lockdown: कोर्ट ने केंद्र व दिल्ली सरकार से भुखमरी के शिकार आवारा जानवरों पर मांगा जवाब....

    आपके शहर से (लखनऊ)

    लखनऊ
    लखनऊ

    Tags: Chief Minister Yogi Adityanath, Coronavirus, Coronavirus pandemic, Covid19

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर