लाइव टीवी

COVID-19:तबलीगी जमात के 'कोरोना कैरियर्स’ के ख़िलाफ़ योगी सरकार का बड़ा अभियान, रात भर में खोज निकाले 569 लोग
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 1, 2020, 8:46 PM IST
COVID-19:तबलीगी जमात के 'कोरोना कैरियर्स’ के ख़िलाफ़ योगी सरकार का बड़ा अभियान, रात भर में खोज निकाले 569 लोग
सीएम योगी आदित्यनाथ ने देर रात तक पुलिस और खुफिया विभाग के अधिकारियों के साथ बैठकें की (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi) ने कहा कि मानवता के खिलाफ किसी भी तरह की साजिश बर्दाश्त नहीं की जाएगी. मरकज में शामिल होने वाले विदेशी ‘कोरोना कैरियर’ (covid-19 carriers) के पासपोर्ट (Passport) जब्त कर पुलिस ने उन्हें क्वॉरेंटाइन कर दिया है, इन्हें पनाह देने वाले दर्जनों लोगों के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज किया गया है.

  • Share this:
लखनऊ. महामारी (Pandemic) कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर पूरे देश में लॉकडाउन (Lockdown) है. ऐसे में राजधानी दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन (Hazrat Nizamuddin) इलाके में स्थित मरकज़ (Markaz) में हुए कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले कोरोना (COVID-19) संक्रमित लोगों के पूरे देश में फैले होने की सूचना के बाद हड़कंप मच गया है. देश के जिन-जिन हिस्सों में इनके छुपे होने की सूचना है वहां का पूरा पुलिस-प्रशासनिक अमला इनकी तलाश में जुटा है. तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) के मरकज में शामिल होने के बाद उत्तर प्रदेश में छुपे ‘कोरोना कैरियर’ (Corona carriers) पर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) ने सख्त रुख अपनाया है. इसको लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार देर रात तक पुलिस और खुफिया विभाग के अधिकारियों के साथ बैठकें की जिसका नतीजा ये रहा कि यूपी पुलिस ने प्रदेश के अलग-अलग जनपदों में ताबड़तोड़ छापेमारी करते हुए अब तक 569 से ज्यादा ‘कोरोना कैरियर’ को चिन्हित कर लिया है.

218 विदेशी ‘कोरोना कैरियर’ भी चिन्हित, पासपोर्ट जब्त
चिन्हित किए गए ‘कोरोना कैरियर’ की पहचान पुलिस ने अभियान चला कर की है. पहचान होने के बाद इन लोगों का सैंपल लिया गया है. साथ ही जिस-जिस जनपद में ये मौजूद हैं, वहीं इन सबको क्वॉरेंटाइन कर दिया गया है. इसके अलावा पुलिस ‘कोरोना कैरियर्स' के संपर्क में आने वाले अन्य लोगों की तलाश भी कर रही है. यूपी पुलिस की कार्रवाई में 218 विदेशी ‘कोरोना कैरियर’ भी चिन्हित किए गए हैं, जो अलग-अलग समय पर टूरिस्ट वीजा पर उत्तर प्रदेश में आए थे और प्रदेश के अलग-अलग जनपदों में रह रहे थे. इनमें से कुछ विदेशी तबीलीग जमात के मरकज में भी शामिल हुए थे. मरकज में शामिल होने वाले विदेशी ‘कोरोना कैरियर’ के पासपोर्ट जब्त कर पुलिस ने उन्हें क्वॉरेंटाइन कर दिया है. इसके साथ ही उनकी छानबीन की जा रही है. यही नहीं उत्तर प्रदेश पुलिस ने इन विदेशी ‘कोरोना कैरियर’ को ठहराने वालों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कर लिया है.

‘कोरोना कैरियर’ को लेकर मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 5 कालीदास मार्ग स्थित अपने सरकारी आवास पर टीम-11 के अधिकारियों के साथ बैठक की. जिसमें उन्होंने कहा कि इस बात का ध्यान रखा जाए कि जमात के लोगों की गलतियों का खामियाजा आम लोगों को न भुगतना पड़े. मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि मानवता के खिलाफ किसी भी तरह की साजिश बर्दाश्त नहीं की जाएगी. जिन लोगों ने मानवता खिलाफ जाकर कार्य किया है, उन्हें कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा. मुख्यमंत्री योगी ने जमात से वापस आए लोगों की युद्ध स्तर पर तलाश करने का निर्देश दिया. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने तथ्यों को छुपाया है उनकी पड़ताल की जाए और उनके खिलाफ सख्त से सख्त क़ानूनी कार्रवाई की जाए. जमात के जरिए जो लोग विदेश के हैं, उनके पासपोर्ट जब्त कर लिया जाएं.



ये भी पढ़ें- आजमगढ़: मदरसे में छिपे थे मरकज में शरीक होने वाले 6 जमाती, पनाह देने वाले पर दर्ज़ हुई FIR


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 1, 2020, 8:46 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading