लाइव टीवी

COVID-19: पर्यावरण के लिए वरदान बना लॉकडाउन, 100 के नीचे पहुंचा देश के अधिकांश शहरों का AQI
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: March 29, 2020, 10:01 AM IST
COVID-19: पर्यावरण के लिए वरदान बना लॉकडाउन, 100 के नीचे पहुंचा देश के अधिकांश शहरों का AQI
दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर एक बार फिर से सील कर दिया गया है. (फाइल फोटो)

बीते कुछ दिनों पहले तक दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में टॉप पर रहने वाले देश के और खासकर यूपी के नोएडा, गाजियाबाद जैसे शहरो का भी AQI लेवल 100 के नीचे पहुंच गया है.

  • Share this:
लखनऊ. देश-दुनिया में लगातार बढ़ रहे कोरानावायरस (Coronavirus) के खतरे से हर तरफ हड़कंप हुआ है. हिन्दुस्तान में अब तक कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 933 तक पहुंच गई है. पूरे देश में अबतक 20 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में भी कोरानावायरस से संक्रमित मरीजों का आंकडा 64 तक पहुच गया है. पूरे देश में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन (Lockdown) लागू है. लेकिन इस लॉकडाउन कोरोना जैसे जानलेवा वायरस को रोकने के साथ ही साथ ही पर्यावरण संरक्षण के लिए भी वरदान साबित हो रहा है.

AQI लेवल 100 के नीचे

न्यूज 18 से बात करते हुए पर्यावरण विशेषज्ञ प्रो ध्रुवसेन सिंह बताते है कि ‘बीते कई दशकों से देश-दुनिया में मानव जनित कारणों के चलते लगातार बढ रहा प्रदूषण थमने का नाम नहीं ले रहा था. इसके दुष्प्रभावों के चलते हुए जलवायु परिवर्तन का भी लोगों को एक बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ रहा था. लेकिन कोरानावायरस रूपी इस वैश्विक आपदा के चलते अब न सिर्फ हिन्दुस्तान बल्कि दुनिया के कई देशों को पूरी तरह से लॉकडाउन कर दिया गया है. जिसके चलते जल, थल और वायु प्रदूषण में एक बडे स्तर पर गिरावट देखी जा रही है. यही कारण है कि बीते कुछ दिनों पहले तक दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में टॉप पर रहने वाले देश के और खासकर यूपी के नोएडा, गाजियाबाद जैसे शहरो का भी AQI लेवल 100 के नीचे पहुंच गया है.’



पर्यावरण के लिए भी हो लॉकडाउन



पर्यावरण विशेषज्ञ प्रो ध्रुवसेन सिंह के मुताबिक ‘अगर इस तरह के लाँकडाउन एक नियमित अंतराल पर लागू कर दिया जाय. तो ये कोरोना जैसे खतरनाक जानलेवा वायरस के साथ ही न सिर्फ ग्लोबल वार्मिंग बल्कि जलवायु परिवर्तन के दुष्प्रभावो को भी रोकने में खासा सहायक सिद्ध होगा. ये लॉकडाउन देश-दुनिया में कोराना वायरस को खत्म करने के साथ ही साथ पर्यावरण संरक्षण और संतुलन के लिए भी अबतक का सबसे बेहद कारगर उपाय साबित होगा. क्योकि ये लॉकडाउन आज कोरानावायरस से एक बड़े स्तर पर हो रही मौतों के आंकड़े को देखते हुए किया गया है. सिर्फ पर्यावरण संरक्षण के नाम पर कभी दुनिया के इन तमाम देशों को इतनी जल्दी लॉकडाउन नहीं किया जा सकता था. यही कारण है कि आज कोरोनावायरस को रोकने के लिए मजबूरन दुनिया के कई देशों को लॉकडाउन किया जाना पर्यावरण संरक्षण के लिए भी वरदान बन गया है.’

ये भी पढ़ें:

Lockdown आदेश-:लखनऊ में एक महीने किराया मांगा तो होगी सजा, इस नंबर पर करें शिकायत

Lockdown: नोएडा में फंसे 600 से ज्यादा लोगों को आज घर भेजेगी UP सरकार
First published: March 29, 2020, 10:01 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading