• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • यूपी के अलग-अलग जिलों के शेल्टर होम में फंसे लोगों को उनके घर पहुंचाएगी योगी सरकार

यूपी के अलग-अलग जिलों के शेल्टर होम में फंसे लोगों को उनके घर पहुंचाएगी योगी सरकार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शैक्षिक संस्थानों में आनलाइन कक्षाओं की शुरुआत करने को कहा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शैक्षिक संस्थानों में आनलाइन कक्षाओं की शुरुआत करने को कहा

COVID-19: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में जहां भी लोग शेल्टर होम्स में 14 दिन पूरा कर चुके हैं उन्हें सुरक्षित घरों तक पहुंचाने की व्यवस्था सरकार करने जा रही है.

  • Share this:
लखनऊ. कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए देश भर में लागू 21 दिनों का लॉकडाउन (Lockdown) 14 अप्रैल को खत्म हो रहा है. इस बीच लगातार बढ़ रही संक्रमित मरीजों की संख्या को देखते हुए सरकार कुछ रियायतों के साथ लॉकडाउन को बढ़ा सकती है. इस बीच लॉकडाउन के दौरान प्रदेश के अलग-अलग जिलों के शेल्टर होम में फंसे सैकड़ों लोगों को उनके घर पहुंचाने की तैयारी योगी सरकार (Yogi Adityanath) ने कर ली है. शेल्टर और क्वारंटाइन होम में फंसे लोगों की स्क्रीनिंग के बाद अब उन्हें उनके-उनके गंतव्य तक पहुंचाया जाएगा.

रविवार शाम को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी टीम के साथ एक बड़ी बैठक की. इस बैठक में कोरोनावायरस की रोकथाम के साथ ही अन्य विषयों पर चर्चा हुई. इस बैठक में यह निर्णय लिया गया कि शेल्टर होम में फंसे लोगों को उनके घर पहुंचाया जाएगा. बैठक के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि शेल्टर होम में फंसे लोगों को उनके घर पहुंचाने का निर्णय लिया गया हाई. सभी लोगों की स्क्रीनिंग होगी. उसके बाद उन्हें घर पहुंचाया जाएगा. घर में भी सभी लोगों को 14 दिन की क्वारंटाइन अवधि को पूरा करना होगा. सरकार इन लोगों को घर पहुंचाने के साथ ही राशन भी मुहैया करवाएगी.

14 दिन पूरा कर चुके लोग भेजे जाएंगे घर

मुख्यमंत्री ने कहा, "प्रदेश में जहां भी लोग 14 दिनों तक शेल्टर होम में रह चुके हैं, उनकी जांच करवाई जाए और फिर सुरक्षित 14 दिन के होम क्वारंटाइन हेतु उनको घर भेजने की व्यवस्था, हम लोग करने जा रहे हैं.





इसके अलावा मुख्यमंत्री ने धार्मिक आयोजनों को घर में ही मनाने की अपील की. उन्होंने कहा, " आगामी पर्व और त्यौहारों के लिए भी यही अपील है जैसे 23 अप्रैल से रमजान शुरू होंगे.. सभी मौलाना, मौलवी, धर्मगुरुओं से हम लोगों की अपील है कि किसी भी पर्व, त्यौहार पर सामूहिक आयोजन न हों क्योंकि यह आयोजन बीमारी और संक्रमण को बढ़ा सकते हैं."

ये भी पढ़ें:

COVID-19: पॉजिटिव मिला शख्स, सील किए गए UP के बदायूं जिले के 14 गांव

COVID-19: UP में 15 अप्रैल से शुरू होगी फूड डिलीवरी और ऑनलाइन रजिस्ट्री

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज