अपना शहर चुनें

States

UP: बेटियों के गुनाहगारों पर कहर बनकर टूटी योगी सरकार, जानिए कैसे पहुंचाया फांसी के फंदे तक

बेटियों के गुनाहगारों पर कहर बनकर टूटी योगी सरकार (File Photo)
बेटियों के गुनाहगारों पर कहर बनकर टूटी योगी सरकार (File Photo)

रेप (Rape) के मामलों में पांच अपराधियों को फांसी के तख्ते पर पहुंचाने के साथ योगी सरकार (Yogi Government) ने 193 मामलों में आजीवन कारावास की सजा दिलायी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 9, 2021, 11:19 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. योगी सरकार (Yogi Government) ने यूपी में महिलाओं की सुरक्षा की लक्ष्‍मण रेखा खींच दी है. उत्‍तर प्रदेश महिलाओं के लिए देश में सबसे सुरक्षित राज्‍य बन गया है. एनसीआरबी (NCRB) के ताजा आंकड़ों ने इसकी तस्‍दीक कर दी है. एनसीआरबी की रिपोर्ट के मुताबिक देश के 21 बड़े राज्‍यों के मुकाबले यूपी में महिला अपराध (Crime Against Women) के आंकड़े सबसे कम हैं. राष्‍ट्रीय औसत के मुकाबले भी उत्‍तर प्रदेश में महिला अपराध के मामले कम हैं.

एनसीआरबी के ताजा आंकड़े इसकी गवाही दे रहे हैं. महिलाओं के प्रति अपराध के मामले में 2019 में देश का कुल औसत 62.4 फीसदी दर्ज किया गया जबकि उत्‍तर प्रदेश में 55.4 रहा. देश के दूसरे बड़े राज्‍यों पर गौर करें तो 2019 में महाराष्‍ट्र में महिलाओं के प्रति अपराध का औसत 63.1, पश्चिम बंगाल में 64.0, मध्‍य प्रदेश में 69.0,राजस्‍थान में 110.4 और केरल जैसे छोटे राज्‍य में यह औसत 62.7 रहा.

बंगाल की जंग में गूंजेगा शिक्षा का ‘बनारस मॉडल’, भाजपा एजेंडे में करेगी शामिल



रिपोर्ट के मुताबिक यूपी में महिलाओं के प्रति अपराध का औसत 2017 में 53.2 और 2018 में 55.7 रहा, जो कि अन्‍य राज्‍यों के मुकाबले काफी कम है. आंकड़े बताते हैं कि महिलाओं के प्रति अपराध पर लगाम लगाने में योगी सरकार ने कड़ी मशक्‍कत की है. पुलिस और न्‍याय प्रक्रिया को महिलाओं के लिए सुलभ किया है. पिछली सरकार में बेकाबू अपराध पर राज्‍य सरकार ने न सिर्फ नियंत्रण किया बल्कि महिलाओं के गुनाहगारों को जेल के साथ फांसी के तख्‍ते तक पहुंचाने का रास्‍ता भी तैयार किया.
दुष्‍कर्म की घटनाओं में आई कमी
आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2016 में यूपी में दुष्‍कर्म के 3289 मामले दर्ज किए गए थे, जबकि 2020 में यह आंकड़ा 2232 रहा. सपा सरकार के 2016 के मुकाबले योगी सरकार 2020 तक दुष्‍कर्म के मामलों में 32 फीसदी कमी लाने में सफल रही. उत्‍तर प्रदेश में 2016 में महिला अपहरण के 11121 मामले थे 2020 तक योगी सरकार ने 27 फीसदी कमी लाते हुए इसे 11057 पर रोक दिया. आंकड़ों के मुताबिक अखिलेश सरकार के दौरान 2013 में 2593, 2014 में 2990 और 2015 में 2662 महिलाएं दुष्‍कर्म का शिकार हुई.

गुनाहगारों को पहुंचाया फांसी के फंदे तक
बेटियों के गुनाहगारों पर योगी सरकार कहर बनकर टूट रही है. बेटियों पर बुरी नजर डालने वालों को यूपी सरकार कतई बख्‍शने को तैयार नहीं है. अपराधियों के सजा के आंकड़े खुद इसके गवाह हैं. रेप के मामलों में पांच अपराधियों को फांसी के तख्ते पर पहुंचाने के साथ योगी सरकार ने 193 मामलों में आजीवन कारावास की सजा दिलायी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज