Cyclone Yasa: 28 मई तक पहुंचेगा यूपी, राजधानी लखनऊ सहित इन जिलों में बारिश का अनुमान

28 मई से यूपी में दिखेगा तूफान यास का असर

28 मई से यूपी में दिखेगा तूफान यास का असर

Cyclone Yasa Effect in UP: बंगाल की खाड़ी के ऊपर बने दबाव के उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने के साथ-साथ सोमवार सुबह तक इसके चक्रवाती तूफान में तब्दील होने और अगले 24 घंटों के दौरान बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान में बदलने का अंदेशा जताया जा रहा है.

  • Share this:

लखनऊ/वाराणसी. चक्रवाती तूफान ताउते के बाद अब बंगाल की खाड़ी से उठ रहे तूफान यास को लेकर मौसम विभाग (Met Department) ने अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक चक्रवाती तूफान यास का असर उत्तर प्रदेश में 28 मई तक देखने को मिलेगा. इस दौरान बिहार से सटे जिलों में तेज हवाओं के साथ बारिश की संभावना है.

बीएचयू के पूर्व प्रोफेसर और मौसम वैज्ञानिक डॉ. एसएन पांडेय ने बताया कि चक्रवाती तूफान यास 28 मई तक बिहार और उत्तर प्रदेश में प्रवेश कर सकता है. इस दौरान वाराणसी, प्रयागराज, लखनऊ और गोरखपुर से सटे जिलों में इसका असर देखने को मिल सकता है. उनका अनुमान है कि 28 से 30 मई तक इस दौरान बादल छाए रहेंगे। हवा में कम दबाव की वजह से नमी रहेगी, जिससे कई जगह तेज आंधी और बारिश हो सकती है.

अधिकारियों व कर्मचारियों को किया गया अलर्ट

मौसम विभाग के अलर्ट के बाद आपदा प्रभारी एडीएम वित्त ने सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को अलर्ट कर दिया है. उन्होंने बताया कि लेखपाल, सचिव, प्रधान आदि सभी को चक्रवात के मद्देनजर इलाकों में नजर रखने का निर्देश दिया गया है. किसी भी आपदा के लिए सम्बंधित विभागों को सोमवार को पत्र भेजकर तैयार करने के लिए निर्देशित किया जाएगा.
अगले 24 घंटे में गंभीर चक्रवाती तूफ़ान में तब्दील होने की संभावना

उधर भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के राष्ट्रीय मौसम पूवार्नुमान केंद्र ने रविवार को कहा कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर बने दबाव के उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने के साथ-साथ सोमवार यानी आज सुबह सुबह तक इसके चक्रवाती तूफान में तब्दील होने और अगले 24 घंटों के दौरान बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान में बदलने की संभावना जताई जा रही है. अनुमान के मुताबिक तूफान 26 मई की सुबह तक इसके पश्चिम बंगाल और उत्तरी ओडिशा तटों के पास उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी तक पहुंचने का अनुमान है. साथ ही एक बेहद उग्र तूफान के रूप में 26 मई की शाम तक इसके पारादीप और सागर द्वीपसमूह के बीच उत्तरी ओडिशा-पश्चिम बंगाल को पार करने का अनुमान है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज