MP के गुना में सड़क हादसे में मारे गए बदमाश का शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया भोपाल

पांडेय ने बताया, 'फिरोज बहराइच का रहने वाला था. (फाइल फोटो)
पांडेय ने बताया, 'फिरोज बहराइच का रहने वाला था. (फाइल फोटो)

लखनऊ के पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय (Sujit Pandey) ने सोमवार को बताया, 'फरार बदमाश फिरोज को गिरफ्तार करने लखनऊ के ठाकुरगंज पुलिस थाने की पुलिस 25 सितंबर शुक्रवार को मुंबई गयी थी.

  • भाषा
  • Last Updated: September 28, 2020, 2:13 PM IST
  • Share this:

लखनऊ. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के गुना में सड़क दुर्घटना (Road Accident) में मारे गये लखनऊ के बदमाश फिरोज अली (Feroze Ali) का शव पोस्टमार्टम के लिये भोपाल भेजा गया है, जिसके बाद शव को आज देर रात या मंगलवार की सुबह तक बहराइच (Bahraich) लाया जायेगा.  पुलिस के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी है. पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस हादसे में घायल पुलिसकर्मियों को गुना के अस्पताल से सोमवार को छुट्टी दे दी गयी है. गौरतलब है कि कुछ इसी तरह की घटना बिकरू पुलिस मुठभेड़ का मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे (Gangster Vikas Dubey) को 10 जुलाई को उज्जैन से कानपुर लाते समय हुई थी. तब गाड़ी फिसल जाने के बाद भागने के प्रयास में पुलिस और एसटीएफ के साथ मुठभेड़ में वह मारा गया था और इस मामले में भी साथ में बैठे पुलिसकर्मियों को चोट आयी थी.

लखनऊ के पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय ने सोमवार को बताया, 'फरार बदमाश फिरोज को गिरफ्तार करने लखनऊ के ठाकुरगंज पुलिस थाने की पुलिस 25 सितंबर शुक्रवार को मुंबई गयी थी. रविवार को वापस आते समय मध्य प्रदेश के गुना में इनोवा गाड़ी का पिछला हिस्सा एक नील गाय से टकरा गयी, जिससे गाड़ी पलटने से फिरोज अली घायल हो गया. उन्होंने बताया कि फिरोज को मौके से अस्पताल ले जाया गया जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. उन्होंने बताया कि गाड़ी में सवार दारोगा व सिपाही तथा एक मुखबिर घायल हो गया था.' अधिकारी ने बताया दारोगा और सिपाही को आज सोमवार को अस्पताल से छुटटी दे दी गयी है, जबकि फिरोज के शव को पोस्टमार्टम के लिये भोपाल भेजा गया है, जहां से पोस्टमार्टम होने के बाद उसके शव को उसके गृह जनपद बहराइच आज रात या कल सुबह भेजा जायेगा.

पुलिस ने गैंगस्टर अधिनियम में भी कार्रवाई की थी
पांडेय ने बताया, 'फिरोज बहराइच का रहने वाला था. उसके खिलाफ ठाकुरगंज में लूट के दो तथा चोरी के तीन मामलों के अलावा कई अन्य मामले दर्ज हैं. उसके खिलाफ पुलिस ने गैंगस्टर अधिनियम में भी कार्रवाई की थी. इसके बाद से ही वह लखनऊ से फरार है.' आयुक्त ने बताया, 'कुछ दिन पहले उसके मुंबई में होने की जानकारी पुलिस को मिली. ठाकुरगंज पुलिस ने एक दारोगा व एक सिपाही को गिरफ्तार करने के लिए वहां भेजा था .उसकी पहचान के लिये एक मुखबिर तथा फिरोज के एक रिश्तेदार को भी भेजा गया था. उन्होंने बताया कि मुंबई में पुलिस टीम ने आरोपी फिरोज को गिरफ्तार कर लिया और उसे लेकर लखनऊ के लिए इनोवा गाड़ी से चले थे. इसी दौरान मध्य प्रदेश के गुना में राष्ट्रीय राजमार्ग पर नील गाय ने कार के पिछले हिस्से में टक्कर मार दी.



अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज