लाइव टीवी

मैनपुरी छात्रा की मौत मामले में हमलावर कांग्रेस ने योगी सरकार के सामने रखीं ये 4 प्रमुख मांग

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 4, 2019, 12:13 PM IST
मैनपुरी छात्रा की मौत मामले में हमलावर कांग्रेस ने योगी सरकार के सामने रखीं ये 4 प्रमुख मांग
उत्तर प्रदेश कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता अराधना मिश्रा ने मैनपुरी छात्रा की मौत मामले में योगी सरकार के सामने 4 मांग रखी हैं.

कांग्रेस विधानमण्डल दल की नेता आराधना मिश्रा 'मोना' (Aradhna Mishra Mona) ने कहा कि मैनपुरी छात्रा की मौत मामले में 28 सितंबर को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर निष्पक्ष जांच की मांग की. इसके बाद सरकार को सुध आई. कमाल की बात है कि मुख्यमंत्री को इस विषय की जानकारी तक नहीं थी.

  • Share this:
लखनऊ. कांग्रेस विधानमण्डल दल की नेता आराधना मिश्रा 'मोना' (Aradhna Mishra Mona) ने बुधवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस कांफ्रेंस कर मैनपुरी (Mainpuri) छात्रा की मौत केस पर योगी सरकार पर सवाल उठाए. अराधना मिश्रा ने कहा कि लगातार कई दिनों से मामला चर्चा में है. 16 सितंबर की दुःखद घटना जो बच्ची के साथ हुई थी, उसी मैं कुछ बिंदु रखना चाहती हूं. उन्होंने कहा कि लगातार परिवार हत्या की आशंका व्यक्त कर रहा था लेकिन प्रशासन उसे आत्महत्या बता मामले को दबाता रहा. क्या सरकार इतनी असंवेदनशील हो गयी है?

उन्होंने कहा कि इस संबंध में 28 सितंबर को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर निष्पक्ष जांच की मांग की. इसके बाद सरकार को सुध आई. कमाल की बात है कि मुख्यमंत्री को इस विषय की जानकारी तक नहीं थी.

सरकार आखिर मामले को दबा किसको बचाने की कोशिश कर रही है?
उन्होंने कहा कि जिस तरह की बातें सामने आ रही हैं, वह बहुत दुःखद है. सरकार आखिर मामले को दबा किसको बचाने की कोशिश कर रही है? अखबारों में भी छपा कि उस बेटी के साथ बलात्कार के बाद हत्या हुई. फिर भी सरकार प्रशासन मामले को दबा रहा है. आखिर क्यों?

अराधना मिश्रा ने कहा कि प्रदेश जानना चाहता है कि आखिर बीजेपी सरकार लगातार बलात्कार और हत्याओं की घटना को दबा क्यों रही है? इससे पहले भी सरकारी संस्थानों में इस तरह की घटनाओं में वृद्धि हो रही है. इससे पहले भी कुशीनगर में ऐसी घटना प्रकाश में आई थी. जहां बच्चियां रहती हैं छात्रावास में, वहां ऐसी घटनाएं बढ़ रही हैं. सरकार ने सुरक्षा के लिए क्या उपाय किये हैं बताये?

सीबीआई की जांच क्यों पेंडिंग डाली गई?
उन्होंने पूछा कि मैनपुरी की घटना में सीबीआई की जांच क्यों पेंडिंग डाली गई? बच्ची का परिवार लगातार कह रहा है कि हत्या हुई है फिर भी क्यों छिपाया जा रहा है? सिर्फ डीएम, एसपी को हटाने से न्याय नहीं है. 2017 के बाद आज क्यों NCRB की कोई रिपोर्ट टेबल क्यों नहीं हुई? ये दर्शाता है कि सरकार मामलों को छिपाना चाहती है. 2017 से पहले प्रत्येक वर्ष रिपोर्ट पब्लिश होती थी. इससे पता चलता है कि सरकार कितनी अपराधियों बलात्कारियों को बढ़ावा दे रही है.
Loading...

कांग्रेस ने रखी ये 4 मांग
अराधना मिश्रा ने कहा कि यह सरकार महिलाओं को लेकर असंवेदनशील है. कांग्रेस मांग करती है कि तत्काल अविलम्ब सीबीआई जांच हो, जिससे उस परिवार को न्याय मिल सके. दूसरी मांग ये है कि एक विमेन गर्ल्स चाइल्ड सेफ्टी इंडेक्स डेटा बनाया जाय. तीसरी मांग है कि एक कमीशन बने, जो इन डेटा और सुविधाओं को देखे. चौथी मांग ये है कि मैनपुरी के पीड़ित परिवार को 1 करोड़ रुपये सांत्वना राशि दी जाय और सुरक्षा प्रदान की जाए.

ये भी पढ़ें:

मैनपुरी: मौत से पहले नवोदय छात्रा से हुआ था रेप!

सीएम योगी का खौफ! 'फूंक-फूंक' कर पराली बुझाने में जुटे अफसर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मैनपुरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2019, 12:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...