लाइव टीवी
Elec-widget

पुलिस में भर्ती होने इच्छुक युवाओं को शिक्षा देने के लिए रक्षा विश्वविद्यालय की स्थापना होगी: अमित शाह

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 29, 2019, 11:37 PM IST
पुलिस में भर्ती होने इच्छुक युवाओं को शिक्षा देने के लिए रक्षा विश्वविद्यालय की स्थापना होगी: अमित शाह
लखनऊ में गृहमंत्री ने कहा कि केंद्र में जब मोदी सरकार आई तब देश की अर्थव्यवस्था दुनिया में 11वें स्थान पर थी पर अब यह सातवें स्थान पर है. उन्होंने कहा कि भारत की 130 करोड़ जनसंख्या पूरी दुनिया के लिए बड़ा बाजार है.

अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि सरकार राष्ट्रीय अपराध विज्ञान विश्वविद्यालय (National University of Criminology) की स्थापना करेगी. उन्होंने कहा कि सजा दिलाने का प्रतिशत कम है और इसमें सुधार करने की आवश्यकता है.

  • Share this:
लखनऊ. अखिल भारतीय पुलिस विज्ञान कांग्रेस के समापन समारोह को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को यहां कहा कि पुलिस में करियर बनाने के इच्छुक छात्रों को शिक्षित करने के लिए केंद्र एक रक्षा शक्ति विश्वविदयालय की स्थापना करेगा और जिन राज्यों में पुलिस विश्वविद्यालय नहीं हैं, वहां कालेज खोले जाएंगे.

यह केंद्रीय विश्वविदयालय होगा
पुलिस विज्ञान कांग्रेस को संबोधित करते हुए गृहमंत्री ने कहा, 'हम एक रक्षा शक्ति यूनिवर्सिटी बनाने जा रहे हैं. यह केंद्रीय विश्वविदयालय होगा. जिन राज्यों में पुलिस विश्वविद्यालय नहीं हैं, वहां उसके कालेज की शुरुआत की जाएगी.’ शाह ने कहा, ‘जिस बच्चे ने यह तय किया है कि उसे प्रोफेशनल पुलिस में ही जाना है, उसको वहां इस विषय की शिक्षा दी जाएगी. यहां उसे गहन जांच-पड़ताल करना भी सिखाया जाएगा.'

पुलिसकर्मी का अक्सर मज़ाक बनाया जाता है

शाह ने कहा कि 1960 से 2019 तक अब तक पुलिस विज्ञान कांग्रेस में जितने शोधपत्र रखे गए, पढ़े गए, उनका हुआ क्या, इस पर मंथन होना चाहिए. उन्होंने कहा कि एक विज्ञान कांग्रेस ऐसी बुलानी चाहिए, जिसमें इन पर भी विचार करना चाहिए कि इनके क्रियान्वयन के लिए क्या किया गया? उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मी का अक्सर मज़ाक बनाया जाता है, पुलिसकर्मी को बड़े तोंद वाला दिखाया जाता है, लेकिन देश की जनता को ये अनुभूति करनी होगी कि जब कोई भाई अपनी बहन के घर राखी बंधवाने जाता है, तब पुलिस का सिपाही ट्रैफिक की जिम्मेदारी संभालता है. गृह मंत्री ने कहा कि जब आप होली या दिवाली मना रहे होते हैं तो उस दिन भी पुलिस का जवान कानून-व्यवस्था की जिम्मेदारी संभाले रहता है .

पुलिस के प्रति सम्मान की भावना पैदा करना हमारी प्राथमिकता
अमित शाह ने कहा कि, ‘देश के एक-एक नागरिक के मन में पुलिस के प्रति सम्मान की भावना पैदा करना हमारी प्राथमिकता है, जब तक यह नहीं कर सकते तब तक हम आंतरिक सुरक्षा को ठीक से नहीं निभा सकते और देश के एक-एक नागरिक के मन में पुलिस के प्रति सम्मान पैदा करना हमारी आपकी जिम्मेदारी है.' गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि, ‘समय के अनुसार आईपीसी और सीआरपीसी में बदलाव की जरूरत है क्योंकि ये कानून तब बनाए गए थे जब अंग्रेज हम पर शासन करते थे और उनकी प्राथमिकता भारत के नागरिक नहीं थे. अब जब हम आजाद हैं, तो इसमें जनता की सुविधा के मुताबिक बदलाव की जरूरत है’.
Loading...

 

ये भी पढे़ें - 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 11:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...