लाइव टीवी

दिल्ली-एनसीआर में अक्टूबर पिछले वर्ष की तुलना में अधिक प्रदूषित नजर आया
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 16, 2018, 10:26 PM IST

मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो तापमान में हो रहे बदलाव हवा के वेग का कम होना और कई जगह चल रहे कॉन्सट्रक्शन के काम की वजह से उड़ने वाले धूल के कण हैं. उनका कहना है कि अगर जल्द ही इस पर नियंत्रण के उचित उपाय नहीं किए गए तो सर्दी और कोहरा बढ़ने के साथ प्रदूषण और बढ़ जाएगा

  • Share this:
सर्दी शुरू होने से पहले ही राजधानी के प्रदूषण का स्तर तेजी से बढ़ने लगा है. सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार पिछले साल की तुलना इस बार अक्टूबर में प्रदूषण का स्तर अधिक है. वहीं, कुछ पर्यावरणविदों का यह भी कहना है कि इसकी एक वजह उड़ीसा में आया चक्रवात तितली भी है.

यह भी पढ़ें-प्रदूषण का प्रकोप: दिल्ली-एनसीआर में GRAP लागू, ऐसे होगा पॉल्यूशन पर कंट्रोल

पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड की रिपोर्ट के अनुसार इस साल अक्टूबर के शुरुआती 15 दिनों में से 8 दिनों में एयर क्वालिटी का स्तर खराब आया है जबकि वर्ष 2017 में अक्टूबर के शुरुआती 15 दिनों में सिर्फ 3 दिन ऐसे थे जब एयर क्वालिटी खराब पाई गई थी.

वहीं, पर्यावरणविदों की मानें तो तितली इफेक्ट के चलते यहां बाहर से आने वाली हवा का वेग अधिक है जबकि यहां की हवा का वेग कम है, इसलिए धूल के कण सेटल नहीं हो पा रहे हैं. इसके साथ ही तापमान में भी तेजी से बदलाव हो रहा है. वहीं, मेट्रो के निर्माण कार्य को भी बढ़ते प्रदूषण से जोड़ा जा रहा है.

यह भी पढ़ें-ये हैं दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण की जड़ें

वहीं, मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो तापमान में हो रहे बदलाव हवा के वेग का कम होना और कई जगह चल रहे कॉन्सट्रक्शन के काम की वजह से उड़ने वाले धूल के कण हैं. उनका कहना है कि अगर जल्द ही इस पर नियंत्रण के उचित उपाय नहीं किए गए तो सर्दी और कोहरा बढ़ने के साथ प्रदूषण और बढ़ जाएगा. उन्होंने कहा कि इसके लिए एक जो सबसे बड़ा प्रयास तात्कालिक रूप से संभव है, वह है पानी का छिड़काव ताकि धूल के कण जमीन पर बैठ जाएं.

पर्यावरणविदों के अनुसार जब हवा का वेग अधिक होती है तो हवा के साथ धूल के कण भी बाहर जाते हैं, लेकिन अभी बाहर की हवाएं यहां आ रही हैं. कहीं न कहीं तितली चक्रवात का भी इफेक्ट है जबकि यहां पर हवा का वेग अभी कम है.(रिपोर्ट-शैलेश अरोड़ा, लखनऊ)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 16, 2018, 10:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर