UP में चोरी-छिपे प्रवेश की सूचना पर एक्शन, बॉर्डर पर हर ट्रॉलर-कंटेनर चेक करेगी पुलिस
Lucknow News in Hindi

UP में चोरी-छिपे प्रवेश की सूचना पर एक्शन, बॉर्डर पर हर ट्रॉलर-कंटेनर चेक करेगी पुलिस
यूपी के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी

दरअसल, पिछले कुछ दिनों से ऐसी सूचना मिल रही थी कि बड़े वाहन जैसे ट्रॉलर, कंटेनर में छिपकर कुछ लोग अन्य राज्यों से यूपी (UP) में दाखिल हो रहे हैं. डीजीपी (DGP) के निर्देशों के मुताबिक यूपी में दाखिल होने वाले हर ट्रॉलर और कंटेनर की चेकिंग की जाएगी.

  • Share this:
लखनऊ. कोरोना (COVID-19) पर लगाम लगाने के लिए यूपी के डीजीपी एचसी अवस्थी (DGP HC Awasthi) ने बॉर्डर एरिया जिलों के पुलिस अधिकारियों को अहम निर्देश जारी किए हैं. इनमें कहा गया है कि यूपी के जिन जिलों के बॉर्डर अन्य राज्यों से लगते हैं, वहां पर दूसरे प्रदेशों से आने वाले हर ट्रॉलर और कंटेनर की सघन चेकिंग की जाएगी. कोरोना की रोकथाम के चलते ये निर्देश दिए गए हैं ताकि अन्य प्रदेशों से कोई भी व्यक्ति नियम विरुद्ध तरीके से उत्तर प्रदेश में दाखिल न हो सके.

दरअसल, पिछले कुछ दिनों से ऐसी सूचना मिल रही थी कि बड़े वाहन जैसे ट्रॉलर, कंटेनर में छिपकर कुछ लोग अन्य राज्यों से यूपी में दाखिल हो रहे हैं. डीजीपी के निर्देशों के मुताबिक यूपी में दाखिल होने वाले हर ट्रॉलर और कंटेनर की चेकिंग की जाएगी. यदि इसमें कोई भी छुपा हुआ व्यक्ति पाया जाता है तो उस पर कार्रवाई के साथ-साथ फौरन क्वारेंटाइन किया जाएगा.

ड्राइवरों के खिलाफ भी एक्शन होगा



वहीं ऐसे वाहनों के ड्राइवर के खिलाफ वैधानिक कार्रवाई की जाएगी. अन्य राज्यों में बसे उत्तर प्रदेश में कामगारों के चोरी छिपे यूपी में दाखिल होने की जानकारी बीते कई दिनों से मिल रही थी. हालांकि यूपी सरकार अब अन्य प्रदेशों में काम कर रहे यूपी के लोगों को लाने की तैयारी कर रही है.
दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों को वापस लाने में जुटी सरकार

उधर दूसरी तरफ लॉकडाउन के दौरान अन्य राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिए हैं. शुक्रवार को टीम-11 के साथ हुई बैठक में मुख्यमंत्री ने अन्य राज्यों में फंसे मजदूरों व उनके परिवार को वापस लाने के लिए कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया कि अलग-राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत कर इसका पूरा रोडमैप बनाकर तीन दिन में उनके समक्ष पेश किया जाए. बता दें लॉकडाउन के दौरान अभी तक पांच लाख मजदूर यूपी में आ चुके हैं. एक अनुमान के मुताबिक देश के अलग-अलग राज्यों में अभी भी 10 लाख मजदूर फंसे हैं.

ये भी पढ़ें:

अगले 3 दिनों तक पूरे यूपी में मौसम रहेगा खुशनुमा, 28 अप्रैल से एकाएक बदलाव

लखनऊ COVID-19 Update: राजधानी में कोरोना के 17 नए केस मिले, कुल मरीज हुए 202
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज