Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    पशुधन विभाग के फर्ज़ी टेंडर मामले में DIG अरविंद सेन की अग्रिम जमानत अर्ज़ी खारिज़

    सांकेतिक तस्वीर
    सांकेतिक तस्वीर

    डीआईजी अरविंद सेन (DIG Arvind Sen) पर पशुधन विभाग के फर्ज़ी टेंडर घोटाले के आरोपी आशीष राय से 35 लाख रुपये लेने का आरोप है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 15, 2020, 8:16 AM IST
    • Share this:
    लखनऊ. पशुधन विभाग के फर्जी टेंडर मामले में डीआईजी अरविंद सेन (DIG Arvind Sen) की अग्रिम जमानत याचिका एंटी करप्शन कोर्ट (Anti Corruption Court) ने खारिज कर दी है. अरविंद सेन पर फर्ज़ी टेंडर घोटाले के आरोपी आशीष राय से 35 लाख रुपये लेने का आरोप है.

    फर्ज़ी कागजातों से धोखाधड़ी कर पशुधन विभाग में आटा, दाल, गेहूं, शक्कर की सप्लाई के नाम पर इंदौर के कारोबारी से करोड़ों हड़पने और भ्रष्टाचार के आरोपियों को बचाने के लिए 35 लाख रुपये लेने में  सीबीसीआईडी के तत्कालीन एसपी और वर्तमान डीआईजी अरविंद सेन आरोपी हैं. मामले के वादी मंजीत सिंह को दबाव में लेने के लिए अरविंद सेन पर आरोपी आशीष राय से 35 लाख रुपये लेने का आरोप है.

    आशीष राय के खाते से अरविंद सेन के खाते में 5 लाख हुए ट्रांसफर



    अभियोजन पक्ष ने ज़मानत अर्ज़ी का विरोध करते हुए कहा कि पूछताछ के दौरान आशीष राय ने पुलिस को बताया कि आजमगढ़ का एसपी रहने के दौरान उसकी जान पहचान अरविंद सेन से हुई थी. फर्ज़ी टेंडर घोटाले के वादी पर दबाव बनाने के लिए उसने अरविंद सेन को 35 लाख रुपये दिए थे, जिसमें 5 लाख रुपये आरोपी आशीष राय के खाते से अरविंद सेन के खाते में ट्रांसफर के सबूत भी मिले हैं. बाकी 30 लाख रुपये आशीष ने अरविंद को नगद दिए थे. बता दें इस मामले में अबतक 10 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं.
    दो आईपीएस हो चुके हैं सस्पेंड

    इस मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने आईपीएस अफसर दिनेश चंद दुबे और अरविंद सेन को सस्पेंड कर दिया है. एसटीएफ की जांच में दोनों आईपीएस अफसर के घोटाले के मास्टरमाइंड आशीष राय से सीधे जुड़े होने के प्रमाण मिले है. वहीं पशुधन विभाग में हुए फर्जीवाड़े की FIR हजरतगंज कोतवाली में दर्ज कराई गई थी.

    एसटीएफ से मिली जानकारी के मुताबिक आजमगढ़ में तैनाती के दौरान दोनों ही अफसरों की आशीष राय से सांठगांठ हुई थी. वहीं 8 ठेकों को दिलाने में डीसी दुबे अहम भूमिका जांच में सामने आई हैं. जबकि आईपीएस अरविंद सेन पर पीड़ित व्यापारी को सीबीसीआईडी मुख्यालय में बुलाकर धमकाने का आरोप है. सेन वर्तमान में डीआईजी पीएसी के पद पर आगरा में तैनात हैं.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज