लाइव टीवी

लखनऊ मौसम विभाग के निदेशक को मिला सर्वश्रेष्ठ कार्मिक पुरस्कार 2019

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 24, 2020, 4:04 PM IST
लखनऊ मौसम विभाग के निदेशक को मिला सर्वश्रेष्ठ कार्मिक पुरस्कार 2019
पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने मौसम विभाग के निदेशक जगदीश प्रसाद गुप्ता को पुरस्कार दिया

जेपी गुप्ता को ये पुरस्कार लखनऊ मौसम विभाग (Meteorological Department) के निदेशक के तौर पर ओवरऑल परफार्मेंस की वजह से दिया गया है. इसमें मौसम के सटीक पूर्वानुमान के साथ ही मौसम विभाग के आधुनिकीकरण का काम भी शामिल है.

  • Share this:
लखनऊ. पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय (Ministry of Earth Sciences) ने लखनऊ के खाते में एक बड़ा पुरस्कार डाला है. लखनऊ में तैनात मौसम विभाग (Meteorological Department) के निदेशक जगदीश प्रसाद गुप्ता को मंत्रालय ने 2019 के सबसे बेहतरीन कार्मिक का पुरस्कार दिया है. निदेशक गुप्ता को ग्रुप एफ (Group F Scientist) के वैज्ञानिकों की कैटेगरी में सर्वश्रेष्ठ कार्मिक का पुरस्कार मिला. मौसम विभाग में इस कैटेगरी में आने वाले वैज्ञानिकों की संख्या लगभग 300 है. इतने वैज्ञानिकों के बीच जेपी गुप्ता को ये सम्मान हासिल हुआ.

काम का पुरस्कार
दिल्ली के डॉ. भीमराव अम्बेडकर इंटरनेशनल सेंटर (Dr. Bhimrao Ambedkar International Center) में 15 जनवरी को कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. जेपी गुप्ता पिछले पांच सालों से लखनऊ में तैनात हैं. इससे पहले उन्होंने देश के लगभग हर हिस्से में मौसम विज्ञान विभाग में काम किया है. लखनऊ से पहले उनकी तैनाती चेन्नई, बंगलौर अहमदाबाद और मुम्बई में रही है. उन्होंने साल 1991 में वैज्ञानिक B कैटेगरी में मौसम विज्ञान विभाग में ज्वाइन किया था. यूपी के बांदा के रहने वाले जेपी गुप्ता ने news 18 से बातचीत में कहा कि यह सम्मान पाकर उन्हें उनके काम का पुरस्कार हासिल हुआ है.

बता दें कि जेपी गुप्ता को ये पुरस्कार लखनऊ मौसम विभाग के निदेशक के तौर पर ओवरऑल परफार्मेंस की वजह से दिया गया है. इसमें मौसम के सटीक पूर्वानुमान के साथ ही मौसम विभाग के आधुनिकीकरण का काम भी शामिल है. जेपी गुप्ता के हुनर का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि उन्हें नौकरी में आने के समय ट्रेनिंग के दौरान भी बेस्ट परफॉर्मर का पुरस्कार मिल चुका है. मौसम विज्ञान विभाग हर साल हर कैटेगरी के वैज्ञानिकों को बेस्ट परफॉर्मेन्स के लिए अवार्ड देता है. इसमें वैज्ञानिकों के साथ-साथ हर तरह के कर्मचारियों के सालाना योगदान को पुरस्कार का आधार बनाया जाता है.

ये भी पढ़ें-पूर्वोत्तर रेलवे ने लखनऊ, वाराणसी, गोरखपुर की 30 ट्रेनों को 29 फरवरी तक किया रद्द, जानें वजह...


अब्दुल्ला आजम का 2 जन्म प्रमाण पत्र केस: मुनादी के बाद भी पेश नहीं हुए आजम खान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 24, 2020, 4:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर