Assembly Banner 2021

यूपी में इसलिए बढ़ रहा Corona संक्रमण, डॉक्टरों ने बताई सीएम योगी को ये वजह

यूपी में इसलिए बढ़ रहा Corona संक्रमण (file photo)

यूपी में इसलिए बढ़ रहा Corona संक्रमण (file photo)

डाॅ. वेद प्रकाश (Dr.Ved Prakash) ने बताया कि कोविड-19 के 80 प्रतिशत मरीज एसिम्पटोमैटिक या माइल्ड हैं, जबकि 15 प्रतिशत मरीज माॅडरेट हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 17, 2020, 12:45 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना (Covid-19) संक्रमण गुणात्मक रफ्तार से बढ़ता दिख रहा है. उधर, संक्रमण से निपटने के लिए योगी सरकार (Yogi Government) नए प्लान पर काम रही है. इसी कड़ी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने वर्तमान में कोविड-19 के संक्रमण के फैलाव की स्थिति से निपटने के लिए पीजीआई, केजीएमयू, डाॅ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशकों/वरिष्ठ डाॅक्टरों की एक टीम गठित करने के निर्देश दिए, जो इस सम्बन्ध में प्रभावी रणनीति बनाएगी. वहीं कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर केजीएमयू के पल्मोनरी एवं क्रिटिकल केयर विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ. वेद प्रकाश ने सीएम योगी को बताया कि वर्तमान में बारिश की वजह से वायु में नमी आ बढ़ गयी है, जिसके कारण यह संक्रमण बढ़ रहा है.

उन्होंने कहा कि इससे निपटने के लिए सभी को मास्क लगाना और सोशल डिस्टेन्सिंग का अनुपालन करना आवश्यक है. सार्वजनिक स्थलों पर प्राॅपर वेंटिलेशन आवश्यक है. डाॅ. वेद प्रकाश ने बताया कि कोविड-19 के 80 प्रतिशत मरीज एसिम्पटोमैटिक या माइल्ड हैं, जबकि 15 प्रतिशत मरीज माॅडरेट हैं. इसके अलावा, 05 प्रतिशत मरीज ही सीवियर/क्रिटिकल हैं. इससे बचने के लिए एसिम्पटोमैटिक या माइल्ड मरीजों का होम आइसोलेशन किया जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें- 20 अगस्त से शुरू होगा UP विधानसभा का मानसून सत्र, सिटिंग प्लान में बड़ा बदलाव



सीएम योगी ने टीम 11 के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से लोगों को कोविड-19 से निपटने के लिए आवश्यक कदमों, जैसे सोशल डिस्टेन्सिंग, मास्क लगाना, सैनिटाइजेशन, स्वच्छता का ध्यान रखना इत्यादि के विषय में निरन्तर जागरूक किया जाए. सीएम ने प्रभावी सर्विलांसिंग के लिए पूरे प्रदेश में 01 लाख टीम गठित करने के निर्देश दिए और कहा कि प्रत्येक जनपद की टीम की माॅनिटरिंग जिलाधिकारी के नेतृत्व में की जाए. उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी, मुख्य चिकित्साधिकारी, नगर आयुक्त तथा अन्य सम्बन्धित अधिकारी प्रतिदिन एक समीक्षा बैठक आयोजित कर कोरोना संक्रमण तथा इलाज की स्थिति की समीक्षा करें.
ये भी पढे़ं- राजा भईया के खिलाफ दर्ज मुकदमों की वापसी की वजह बताए यूपी सरकार- HC

बता दें कि उत्तर प्रदेश कोरोना वायरस से काफी ज्यादा प्रभावित है. राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 43 हजार 444 हो गई है और इस महामारी के चलते जान गंवाने वालों की संख्या प्रदेश में 1046 हो चुकी है. सूबे में 26 हजार 675 मरीज इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं और उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है. प्रदेश में फिलहाल कोरोना के 15 हजार 723 सक्रिय मामले हैं, जिनका इलाज चल रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज